प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक पर मप्र में भाजपा का मौन धरना, राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन

प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक पर मप्र में भाजपा का मौन धरना, राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन
प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक पर मप्र में भाजपा का मौन धरना, राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन भोपाल, 7 जनवरी (आईएएनएस)। पिछले दिनों पंजाब की यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में हुई चूक को लेकर भाजपा में भारी गुस्सा है और सुरक्षा में हुए खिलवाड़ को कांग्रेस की पंजाब सरकार का षड्यंत्र बताते हुए मध्य प्रदेश में भाजपा ने महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष मौन धरना दिया। भोपाल में भाजपा के प्रतिनिधि मंडल ने राज्यपाल मंगुभाई पटेल को ज्ञापन सौंपा।

भाजपा के आह्वान पर राजधानी भोपाल सहित पूरे प्रदेश में गांधी प्रतिमा के समक्ष मौन धरना दिया। धरने में पार्टी नेताओं के साथ सामाजिक संगठनों एवं प्रबुद्धजनों ने भी भागीदारी कर पंजाब सरकार की निंदा की। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ने झाबुआ के राजवाड़ा चौक पर आयेाजित मौन धरना में हिस्सा लिया।

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष शर्मा ने कहा कि संवैधानिक व्यवस्था के अंतर्गत राष्ट्रपति या प्रधानमंत्री जिस प्रदेश में दौरे पर जाते हैं, उनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी राज्य सरकार की होती है। दुर्भाग्य है कि कांग्रेस नेतृत्व ने पंजाब सरकार द्वारा जिस प्रकार प्रधानमंत्री की जान से खिलवाड़ कर उनकी सुरक्षा में कोताही बरती वह निदंनीय है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के पंजाब दौर के समय पुलिस के मुखिया का उपस्थित न होना और इस घटना के बाद मुख्यमंत्री द्वारा फोन न उठाना, कोई सामान्य घटना नहीं है। अंतर्राष्ट्रीय षडयंत्रों के तहत कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी के इशारे पर पंजाब सरकार ने प्रधानमंत्री के खिलाफ षडयंत्र रचा।

भोपाल में पुरानी विधानसभा कुशाभाऊ कन्वेंशन सेंटर स्थित गांधी प्रतिमा के समक्ष मौन धरना दिया गया। धरने के पश्चात भाजपा प्रतिनिधि मंडल ने राजभवन पहुंचकर राज्यपाल मंगुभाई पटेल को ज्ञापन सौंपा। इस ज्ञापन में सुरक्षा में चूक के लिए दोषियों पर सख्त कार्रवाई की मांग की गई है।

इसी तरह राज्य के अन्य हिस्सों में भी मौन धरना दिया गया, जिसमें पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारी व शिवराज सरकार के मंत्रियों ने हिस्सा लिया।

--आईएएनएस

एसएनपी/एएनएम

Share this story