बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने सहित कई मांगों को लेकर जाप कार्यकतार्ओं ने रेाकी ट्रेनें

बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने सहित कई मांगों को लेकर जाप कार्यकतार्ओं ने रेाकी ट्रेनें
बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने सहित कई मांगों को लेकर जाप कार्यकतार्ओं ने रेाकी ट्रेनें पटना, 10 जनवरी (आईएएनएस)। बिहार को विशेष राज्य को दर्जा, किसानों की एमएसपी की गारंटी सहित कई अन्य मांगों को लेकर सोमवार को जन अधिकार पार्टी के कार्यकर्ता विभिन्न रेलवे स्टेशनों पर रेल पटरियों पर उतरे और रेल चक्का जाम किया।

पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के मुताबिक, पूर्व सांसद पप्पू यादव की पार्टी जन अधिकार पार्टी के कार्यकर्ता विभिन्न मांगों को लेकर रेल चक्का जाम करने रेल पटरियों पर उतरे। इस दौरान कार्यकर्ता दीदारगंज हाल्ट, भभुआ रोड, गोपालगंज स्टेशन, पूर्णिया सहित कई जगहों पर पहुंचे और रेल पटरियों पर उतरे और रेल परिचालन बाधित करने की कोशिश की।

इस दौरान कई जगहों पर कोरोना प्रोटोकॉल की धज्जियां उडती रही।

पटना साहिब रेलवे स्टेशन से कुछ ही दूरी पर दिदारगंज रेलवे हाल्ट पर जाप के नेताओं एवं कार्यकर्ताओ ने रेल मार्ग जाम किया। बाद में पुलिस के जवानों ने जाप नेताओ और प्रदर्शनकारियों को रेल पटरियों से हटाया।

प्रदर्शनकारी जाप कार्यकतार्ओं की मुख्य मांगों में बिहार को विशेष राज्य का दर्जा, किसानों के लिए एम एस पी की गारंटी, राज्य में किसानों के लिए पर्याप्त मात्रा में खाद-बीज की आपूर्ति, वार्ड सचिव की नौकरी स्थायी करने, पंचायत प्रतिनिधियों को पर्याप्त सुरक्षा शामिल हैं।

जाप सुप्रीमो पप्पू यादव ने कहा कि बिहार को विशेष राज्य का दर्जा आवश्यक है। उन्होंने कहा कि नीति आयोग के आकंड़ों के अनुसार बिहार पिछड़ा राज्य है। विकास के सभी सूचकांक में बिहार निचले पायदान पर हैं। बिहार के विकास के लिए , विशेष राज्य के मांग के लिए हमारी पार्टी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ हैं।

उन्होंने कहा कि यह राजनीति का नहीं, बिहार के भविष्य का सवाल है और हम किसी भी कीमत पर इससे समझौता नहीं करेंगे।

प्रदेश अध्यक्ष राघवेंद्र कुशवाहा ने कहा कि केंद्र सरकार बिहार के साथ अन्याय कर रही हैं। सरकार की गलत नीतियों के कारण किसान से लेकर नौजवान तक सभी सड़क पर हैं। उन्होंने कहा कि जाप बिहार के समुचित विकास की लड़ाई आगे भी लड़ती रहेगी।

--आईएएनएस

एमएनपी/आरजेएस

Share this story