बिहार : भाजपा नेताओं को केंद्र से मिली सुरक्षा के बाद सियासत गर्म

बिहार : भाजपा नेताओं को केंद्र से मिली सुरक्षा के बाद सियासत गर्म
बिहार : भाजपा नेताओं को केंद्र से मिली सुरक्षा के बाद सियासत गर्म पटना, 21 जून (आईएएनएस)। बिहार में उपमुख्यमंत्री सहित भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के 10 से अधिक नेताओं को केंद्र सरकार द्वारा मिली सुरक्षा के बाद राज्य की सियासत गर्म हो गई है। राजद ने तो कानून व्यवस्था को लेकर सरकार पर तंज कसा है।

राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने उप मुख्यमंत्री सहित कई भाजपा नेताओं की सुरक्षा केन्द्रीय बल को देने पर तंज कसते हुए सवाल किया है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सरकार कानून व्यवस्था नहीं संभाल पा रही है।

उन्होंने कहा कि जिस प्रकार केंद्र सरकार ने बिहार के उप मुख्यमंत्री सहित कई नेताओं को केंद्रीय बल का सुरक्षा प्रदान किया है, उससे तो यही साबित हो रहा है।

बिहार के उपमुख्यमंत्री को केंद्रीय बल की सुरक्षा दिए जाने के बाद उन्होंने कहा कि क्या इनको भी अपनी सुरक्षा के लिए अपनी ही सरकार पर एतबार नहीं रह गया है। कई जिलों के भाजपा कार्यालय की सुरक्षा का प्रभार भी भारत सरकार ने सीमा सुरक्षा बल को सौंप दिया है।

उन्होंने कहा कि संवैधानिक व्यवस्था के तहत राज्य में कानून-व्यवस्था राज्य सरकारों की जिम्मेदारी है। ऐसी हालत में प्रश्न है कि केंद्रीय बलों की प्रतिनियुक्ति के पूर्व क्या केंद्र सरकार ने बिहार सरकार की सहमति ली थी?

वैसे तो सवाल यह भी उठता है कि बिहार की सरकार क्या अपनी संवैधानिक जिम्मेदारी निर्वहन करने में इतनी असमर्थ हो गई है कि वह अपने राज्य में नेताओं और राजनीतिक दलों के द़फ्तरों को सुरक्षा तक प्रदान नहीं कर सकती है?

इधर, एनडीए में शामिल हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के प्रवक्ता दानिश रिजवान ने भी भाजपा के विधायक हरिभूषण ठाकुर के एक बयान पर कटाक्ष करते हुए कहा था कि केंद्रीय सुरक्षा मिल गई है, तो क्या ऐसे बयान देंगे।

इस मामले पर हालांकि भाजपा के नेता चुप हैं।

--आईएएनएस

एमएनपी/एएनएम

Share this story