बिहार में उग्र प्रदर्शन के लिए जदयू के 2 नेता जिम्मेदार - भाजपा

बिहार में उग्र प्रदर्शन के लिए जदयू के 2 नेता जिम्मेदार - भाजपा
बिहार में उग्र प्रदर्शन के लिए जदयू के 2 नेता जिम्मेदार - भाजपा पटना, 20 जून (आईएएनएस)। अग्निपथ योजना को लेकर बिहार में उग्र प्रदर्शन के बाद सत्ताधारी पार्टी भाजपा और जदयू के नेता आमने-सामने आ गए है। दिनों दलों के नेताओं के बीच आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू है। इस बीच, भाजपा ने राज्य में हुए उग्र प्रदर्शन और सरकारी संपत्तियों में तोड़फोड़ के लिए जदयू को जिम्मेदार बताया है।

भाजपा के विधायक हरि भूषण ठाकुर ने सोमवार को साफ लहजे में कहा कि बिहार दो दिनों तक जलता रहा, इसका मुख्य कारण जदयू के दो नेताओं का बयान है।

उन्होंने जदयू संसदीय दल के नेता उपेंद्र कुशवाहा और जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह का नाम लेते हुए कहा कि इसके लिए यही दोनों जिम्मेदार हैं। उन्होंने कहा कि इन दोनों के बयान के बाद ही दो दिनों तक बिहार जलता रहा है और भाजपा नेताओं के घरों और पार्टी के दफ्तरों को निशाना बनाया गया है।

उन्होंने आगे कहा कि जदयू में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बाद क्या होगा। उन्होंने कहा कि उन्हीं के त्याग, तपस्या से जदयू है और ये नेता बयान दे रहे हैं।

विधायक ने कहा कि सेना की नौकरी सुख-सुविधा के लिए नहीं होती है। सेना में युवा देश भक्ति की भावना से जाते हैं।

विधायक ने हिंसक उपद्रव कर रहे लोगों को जिहादी बताते हुए कहा कि ये समीकरणवादी लोग हैं। पहले समीकरण से सरकार बनाते थे, वही लोग अब हंगामा करा रहे हैं।

योजना की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि दुनिया में बहुत सारे देश ऐसे भी हैं जहां आर्मी में जाना अनिवार्य होता है। उन्होंने कहा कि मिथिला यूनिवर्सिटी में 6 साल में बीए की डिग्री मिलती है। हम 4 साल में पैसा भी देंगे, डिग्री भी देंगे।

भाजपा विधायक ने कहा कि ऐसी व्यवस्था पर यदि प्रश्न उठा रहे हैं, यह अच्छी बात नहीं है। उन्होंने कहा कि प्रदर्शन के नाम पर ट्रेन जला रहे हैं।

--आईएएनएस

एमएनपी/एएनएम

Share this story