बेंगलुरु में मां-बेटी की हत्या, आरोपियों को पकड़ने के लिए 4 टीमें गठित

बेंगलुरु में मां-बेटी की हत्या, आरोपियों को पकड़ने के लिए 4 टीमें गठित
बेंगलुरु में मां-बेटी की हत्या, आरोपियों को पकड़ने के लिए 4 टीमें गठित बेंगुलुरु, 7 अक्टूबर (आईएएनएस)। बेंगलुरु के बेगुर थाना क्षेत्र के चौदेश्वरीनगर के एक अपार्टमेंट में बदमाशों ने बुधवार को एक महिला और उसकी 3 साल की बेटी की गला रेत कर हत्या कर दी।

मृतकों की पहचान यमुना उर्फ चंद्रकला (35) और उनकी बेटी रत्ना (4) के रूप में हुई है। घटना का पता तब चला जब चंद्रकला की बहन मौके पर वहां पहुंची।

पुलिस को घर में खून से लथपथ लाशें मिली हैं। मां का शव हॉल में मिला था जबकि बच्चे का शव एक कमरे में मिला।

पुलिस ने बताया कि चंद्रकला का परिवार चार साल पहले बेंगलुरु शिफ्ट हुआ था। उनके पति चन्नवीरस्वामी एक गारमेंट फैक्ट्री में काम करते थे। वे चित्रदुर्ग जिले के रहने वाले थे।

चंद्रकला अपनी बेटी के साथ घर पर रहती थी और वह आयुर्वेदिक उत्पादों की ऑनलाइन मार्केटिंग करती थी।

प्रारंभिक जांच के अनुसार, पुलिस ने पाया है कि चंद्रकला के पति चन्नवीरस्वामी के काम पर जाने के बाद सुबह एक अजनबी घर में घुसा था।

सूत्रों का कहना है कि अजनबी दोपहर में घर से निकला था। पुलिस मां-बेटी की हत्या में उसकी भूमिका पर शक कर रही है।

हालांकि पुलिस कई एंगल से जांच कर रही है।

पीड़ितों के घर में घुसे बदमाशों का पता लगाने के लिए पुलिस आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है।

चंद्रकला के दो बच्चे हैं और उनमें से एक को छात्रावास भेज दिया गया है।

बदमाशों ने चंद्रकला और उनकी बेटी को 20 से ज्यादा बार चाकू मारा है और उनका गला भी काट दिया है। पुलिस ने बताया कि बदमाशों ने घर से सोने के जेवर लूट लिए हैं।

अतिरिक्त आयुक्त एस. मुरुगन ने बताया कि मौके पर उपलब्ध सुरागों के आधार पर क्षेत्राधिकार के डीसीपी ने दोहरे हत्याकांड की जांच के लिए चार टीमों का गठन किया है।

टीमों ने अपना काम शुरू कर दिया है और मामले को जल्द से जल्द सुलझाने का प्रयास कर रही है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

--आईएएनएस

एमएसबी/आरजेएस

Share this story