भारतीय वायुसेना को जगुआर विमान के लिए 357 करोड़ रुपये में मिलेंगे 2 सिमुलेटर

भारतीय वायुसेना को जगुआर विमान के लिए 357 करोड़ रुपये में मिलेंगे 2 सिमुलेटर
भारतीय वायुसेना को जगुआर विमान के लिए 357 करोड़ रुपये में मिलेंगे 2 सिमुलेटर नई दिल्ली, 18 नवंबर (आईएएनएस)। रक्षा मंत्रालय ने भारतीय वायुसेना के लिए 357 करोड़ रुपये की कुल लागत पर पांच साल के व्यापक वार्षिक रखरखाव अनुबंध (सीएएमसी) के साथ हिन्दुस्तान ऐरोनॉटिक्स लिमिटेड से जगुआर विमान के लिए दो फिक्स्ड बेस फुल मिशन सिमुलेटर (एफबीएफएमएस) की खरीद के एक करार पर हस्ताक्षर किए हैं।

ये सिमुलेटर जामनगर और गोरखपुर वायुसेना स्टेशनों में स्थापित किए जाएंगे।

आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत देश रक्षा क्षेत्र में उन्नत अत्याधुनिक तकनीकों एवं प्रणालियों को स्वदेशी रूप से डिजाइन, विकसित और इनका निर्माण करने की अपनी शक्ति में लगातार वृद्धि कर रहा है।

एचएएल द्वारा फिक्स्ड बेस फुल मिशन सिमुलेटर (एफबीएफएमएस) का निर्माण आत्मनिर्भर भारत पहल को और अधिक बढ़ावा देगा तथा देश में रक्षा उत्पादन एवं रक्षा उद्योग के स्वदेशीकरण में भी इससे बढ़ोत्तरी होगी।

मंत्रालय ने एक बयान में कहा, संबद्ध उपकरणों के साथ पहले एफबीएफएमएस को जामनगर वायु सेना स्टेशन में अनुबंध से 27 महीने के भीतर पूरा किया जाएगा और दूसरा एफबीएफएमएस गोरखपुर वायुसेना स्टेशन में अनुबंध से 36 महीने के भीतर पूरा किया जाएगा।

इन सिमुलेटरों की खरीद के साथ, भारतीय वायुसेना उन्नत लंबी दूरी के हथियारों के अनुकरण सहित पूरे संचालन आवरण में विभिन्न आकस्मिकताओं को पायलटों के लिए प्रदर्शित करके उड़ान प्रशिक्षण की गुणवत्ता को उच्च मानकों तक बढ़ाएगी।

--आईएएनएस

एकेके/एएनएम

Share this story