मैसूर में आदमखोर तेंदुआ और बाघ का खतरा, विशेष अभियान शुरू

मैसूर में आदमखोर तेंदुआ और बाघ का खतरा,  विशेष अभियान शुरू
मैसूर में आदमखोर तेंदुआ और बाघ का खतरा,  विशेष अभियान शुरू मैसूर, 23 जनवरी (आईएएनएस)। कर्नाटक के अधिकारियों ने सोमवार को मैसूर जिले में आदमखोर तेंदुए और बाघ का पता लगाने और उन्हें पकड़ने के लिए एक विशेष अभियान शुरू किया है। अलग-अलग घटनाओं में बाघिन ने दो लोगों पर हमला कर उनकी हत्या कर दी है।

तेंदुए ने एक 11 वर्षीय लड़के पर हमला किया था और उसका आधा खाया हुआ शव मैसूरु जिले के टी नरसीपुर शहर के पास एक जंगल में मिला था। घटना का खुलासा रविवार को हुआ। एक अन्य घटना में एक 18 वर्षीय युवक पर बाघ ने हमला कर मार डाला।

उसकी चीख सुनकर लोग मौके पर पहुंचे और मैसूरु जिले के एचडी कोटे तालुक में डीबी कुप्पे वन रेंज के जंगलों में एक बाघ को भागते हुए देखा। वाघ ने व्यक्ति पर हमला उस समय किया था जब वह एक शादी समारोह के लिए लकड़ियां लेने जा रहा था।

अधिकारियों ने एक विशेष टास्क फोर्स का गठन किया है और बाघों को संबंधित स्थानों पर ट्रैक करने और पकड़ने के लिए अभियान शुरू कर दिया है। मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा था कि अधिकारियों को यह देखने के निर्देश दिए गए हैं कि अब और जानमाल का नुकसान न हो।

टी नरसीपुरा तालुक में किसानों को 15 दिनों में गन्ने की फसल काटने की सलाह दी गई है, क्योंकि तेंदुए वहां शरण ले रहे हैं। टी नरसीपुरा तालुक में तीन महीने में तेंदुओं ने चार लोगों को मार डाला है।

--आईएएनएस

एफजेड/एसकेपी

Share this story