मॉनसून सीजन को लेकर यशपाल आर्य हमलावर, कहा- सरकार और मशीनरी हुई फेल

मॉनसून सीजन को लेकर यशपाल आर्य हमलावर, कहा- सरकार और मशीनरी हुई फेल
मॉनसून सीजन को लेकर यशपाल आर्य हमलावर, कहा- सरकार और मशीनरी हुई फेल हल्द्वानी, 1 अगस्त (आईएएनएस)। नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य ने मॉनसून सीजन में बारिश और आपदा को लेकर सरकार को घेरा है। यशपाल आर्य ने कहा है कि अभी उत्तराखंड में बारिश पूरी तरह से नहीं आई है। छुटपुट बरसात से उत्तराखंड को काफी नुकसान पहुंचा है। लेकिन सरकार और सरकारी मशीनरी व्यवस्थाओं को दुरुस्त नहीं कर पा रही है।

दरअसल, पिछले 24 घंटे से उत्तराखंड के कई हिस्सों में रुक-रुक कर हो रही बरसात के चलते जनजीवन अस्त व्यस्त है। बरसात के चलते कई जगह पर आपदा की स्थिति बनी हुई है। भूस्खलन, और सड़कों पर मलबा आ जाने से जगह-जगह सड़कें बाधित हो गई हैं। ऐसे में विपक्ष भी अब सरकार को घेरने में जुट गया है। नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य ने इसी बहाने सरकार पर जमकर हमला बोला है।

नेता प्रतिपक्ष ने सरकार को घेरा: यशपाल आर्य ने कहा है कि अभी उत्तराखंड में बारिश पूरी तरह से नहीं आई है। छुटपुट बरसात से उत्तराखंड को काफी नुकसान पहुंचा है। लेकिन सरकार और सरकारी मशीनरी व्यवस्थाओं को दुरुस्त नहीं कर पा रही है। इससे लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। यशपाल आर्य ने कहा है कि उत्तराखंड आपदा प्रभावित राज्य है। ऐसे में सरकार को पहले से ही व्यवस्थाओं को ठीक करने की जरूरत है। लेकिन सरकार आपदा से होने वाले नुकसान से कोई सबक नहीं लेती है। जिसका नतीजा है कि हर साल उत्तराखंड को आपदा से भारी नुकसान पहुंचता है।

सरकार सबक नहीं ले रही: यशपाल आर्य ने कहा है कि कई जगह थोड़ी सी बरसात में पहाड़ टूट कर गिर रहे हैं। कई जगहों पर सड़कें बंद हैं। लेकिन सरकार सड़कों को नहीं खोल पा रही है। इससे साफ जाहिर हो रहा है कि सरकार के कर्मचारी ठीक ढंग से काम नहीं कर रहे हैं। जिसका नतीजा है कि लोगों को परेशानी उठानी पड़ रही है। उन्होंने कहा कि सरकार केवल चारधाम यात्रा के नाम पर वाहवाही लूट रही है, लेकिन चारधाम यात्रा किस तरह से हुई है सभी को पता है। चारधाम यात्रा में बहुत से लोगों की व्यवस्थाएं ठीक नहीं होने के चलते जान गई है, लेकिन सरकार सबक नहीं ले रही है।

आपदा प्रबंधन के नाम पर सरकार फेल:

नेता प्रतिपक्ष का कहना है कि बरसात के चलते सड़कें भी क्षतिग्रस्त हो रही हैं लोग लगातार दुर्घटना का शिकार हो रहे हैं, लेकिन सरकार के पास कोई ठोस कार्ययोजना नहीं है। आपदा प्रबंधन में सरकारी मशीनरी पूरी तरह से फेल है। आपदा प्रबंधन के नाम पर सरकार के पास बजट की व्यवस्था तक ठीक ढंग से नहीं है। इससे साफ जाहिर हो रहा है कि आपदा प्रबंधन के नाम पर सरकार पूरी तरह से फेल है।

--आईएएनएस

स्मिता/एएनएम

Share this story