यूक्रेन में युद्ध खत्म करने को तैयार हैं पुतिन : एर्दोगन

यूक्रेन में युद्ध खत्म करने को तैयार हैं पुतिन : एर्दोगन
यूक्रेन में युद्ध खत्म करने को तैयार हैं पुतिन : एर्दोगन लंदन, 20 सितम्बर (आईएएनएस)। तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोगन ने कहा है कि उनका मानना है कि रूसी राष्ट्रपति यूक्रेन में शुरू हुए युद्ध को समाप्त करने की मांग कर रहे हैं और इस मुद्दे पर महत्वपूर्ण कदम उठाया जाएगा। मीडिया रिपोर्टों में यह जानकारी दी गई है।

बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, एर्दोगन ने कहा कि व्लादिमीर पुतिन के साथ उनकी हालिया बातचीत से उनकी धारणा यह है कि रूसी नेता इसे जल्द से जल्द खत्म करना चाहते हैं।

यूक्रेन के इस महीने अपने क्षेत्र पर फिर से कब्जा करने के साथ, तुर्की नेता ने संकेत दिया कि रूस के लिए चीजें काफी समस्याग्रस्त हैं।

एर्दोगन ने पिछले हफ्ते उज्बेकिस्तान में एक शिखर सम्मेलन में पुतिन के साथ बहुत व्यापक चर्चा करने की बात कही थी।

एक साक्षात्कार में, तुर्की नेता ने कहा कि उन्हें यह आभास हुआ है कि रूसी राष्ट्रपति युद्ध को शीघ्र समाप्त करना चाहते हैं।

बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, वह वास्तव में मुझे दिखा रहे हैं कि वह इसे जल्द से जल्द समाप्त करने के लिए तैयार हैं। एर्दोगन ने कहा, यह मेरी धारणा थी, क्योंकि जिस तरह से चीजें अभी चल रही हैं वह काफी समस्याग्रस्त है।

उन्होंने यह भी कहा कि दोनों पक्षों के बीच जल्द ही 200 बंधकों का आदान-प्रदान किया जाएगा। एर्दोगन ने इस बारे में कोई और विवरण नहीं दिया कि इस तरह के कैदियों की अदला-बदली में कौन शामिल होगा।

रूस पर पश्चिमी प्रतिबंधों का विरोध करते हुए, एर्दोगन ने बार-बार युद्ध के दौरान मध्यस्थता करने की मांग की। नाटो सदस्य तुर्की के लिए संतुलित रुख को बढ़ावा दिया।

उन्होंने यूक्रेन से अनाज के निर्यात को फिर से शुरू करने में संयुक्त राष्ट्र की मध्यस्थता में मदद की और पिछले हफ्ते कहा कि वह सीधे युद्धविराम वार्ता आयोजित करने की कोशिश कर रहे हैं।

इस बीच, लुहान्स्क के पूरे पूर्वी क्षेत्र पर रूसी सेना द्वारा नियंत्रण करने के दो महीने बाद, यूक्रेन ने इस क्षेत्र के हिस्से को पुन: प्राप्त कर लिया है।

बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, लुहांस्क के यूक्रेन के नेता सेरही हैदाई ने कहा कि रूसी सेना बिलोहोरिवका विलेज से पीछे हट गई है।

यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर जेलेंस्की ने कहा, कब्जे वाले स्पष्ट रूप से दहशत में हैं।

--आईएएनएस

एसकेके/एएनएम

Share this story