यूपी में विधानसभा चुनाव से पहले सपा को झटका, रितु सिंह ने थामा कांग्रेस का दामन

यूपी में विधानसभा चुनाव से पहले सपा को झटका, रितु सिंह ने थामा कांग्रेस का दामन
यूपी में विधानसभा चुनाव से पहले सपा को झटका, रितु सिंह ने थामा कांग्रेस का दामन लखनऊ, 11 सितम्बर (आईएएनएस)। यूपी में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी को झटका लगा है। दरअसल यूपी पंचायत चुनाव के दौरान जिस सपा नेत्री रितु सिंह के साथ बदसलूकी हुई थी उन्होंने प्रियंका की मौजूदगी कांग्रेस का हाथ थाम लिया है।

ज्ञात हो कि अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका वाड्रा ने जुलाई के चार दिन के दौरे में लखीमपुर खीरी पहुंची थीं। यहां पर उन्होंने ब्लाक प्रमुख के चुनाव के नामांकन के दौरान हिंसा तथा अभद्रता की शिकार रितु सिंह से भेंट की।

इस दौरान कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव वरिष्ठ नेता प्रियंका वाड्रा ने कहा की जिस तरह का लोकतंत्र होना चाहिए उससे हालात बिल्कुल विपरीत हैं। वाड्रा ने कहा कि महिलाओं की साड़ी खींची गई उनके कपड़े फाड़े गए छोटा बच्चा था उस पर भी दबंगों को तरस नहीं आया किसी ने इस अत्याचार को रोका नहीं सीओ ने बचाने की कोशिश की तो उस पर ही कार्रवाई कर दी गई। प्रशासन मौन खड़ा रहा। एक छोटा सा काम ऐसी घटनाओं पर जो किया जाना चाहिए चुनाव को रद करना उसे भी नहीं किया गया। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि कि नामांकन पत्र भरना और चुनाव लड़ा उनका संवैधानिक हक था। यह अधिकार उनसे छीना गया है। मैं मांग करती हूं कि चुनाव रद्द हो और यहां दोबारा से चुनाव हो।

लखनऊ में उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मुख्यालय में शुक्रवार से मैराथन बैठक कर रहीं प्रियंका गांधी वाड्रा ने शनिवार को पश्चिमी उत्तर प्रदेश के पार्टी के नेताओं व कार्यकर्ताओं से भेंट की। इस दौरान उन्होंने सभी से साफ कहा कि उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव नजदीक हैं। इसको देखते हुए सभी कार्यकर्ता 24 घंटे पार्टी के काम को करें। उन्होंने कहा कि मजबूत संगठन पार्टी के लिए ही नहीं देश निर्माण के लिए जरूरी है।

प्रदेश कार्यालय पर कांग्रेस जोनवार सांगठनिक बैठक को लेकर पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने चुनाव, संगठन निर्माण और पार्टी के अभियानों पर गहन चर्चा की। इस दौरान उन्होंने एक-एक पदाधिकारी से रिपोर्ट व फीडबैक लिया। प्रियंका गांधी ने इन सभी से संगठन के कार्यों की समीक्षा के साथ-साथ जमीनी रुझानों पर भी चर्चा की। वह हर गांव में कांग्रेस की स्थिति की रिपोर्ट ले रही हैं। उन्होंने पश्चिमी उत्तर प्रदेश के के 96 ब्लाकों 874 न्याय पंचायतों की समीक्षा की। इसके साथ ही पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसान आंदोलन पर चर्चा की। पश्चिमी यूपी की चुनावी रणनीति पर मंथन किया। इसके बाद उनकी संगठन समीक्षा में रुहेलखंड जोन के नेता व कार्यकर्ताओं के साथ की मैराथन बैठक चली। इसमें उन्होंने 85 ब्लाकों के 823 न्याय पंचायतों की रिपोर्ट ली।

--आईएएनएस

विकेटी/एएनएम

Share this story