रघु शर्मा शनिवार को अहमदाबाद जाकर प्रभार ग्रहण करेंगे

रघु शर्मा शनिवार को अहमदाबाद जाकर प्रभार ग्रहण करेंगे
रघु शर्मा शनिवार को अहमदाबाद जाकर प्रभार ग्रहण करेंगे नई दिल्ली, 8 अक्टूबर (आईएएनएस)। गुजरात, दादर नगर हवेली व दमन-दीव के नवनियुक्त कांग्रेस प्रभारी और राजस्थान के चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा शनिवार को गुजरात के अहमदाबाद जाकर अपना पदभार ग्रहण करेंगे।

रघु शर्मा ने बताया कि शनिवार को वो जयपुर से अहमदाबाद के लिए रवाना होंगे। गुजरात में आगामी चुनाव की तैयारी और संगठन में हो रहे काम का जायजा लेंगे।

गौरतलब है कि गुरुवार रात ही कांग्रेस आलाकमान की ओर से रघु शर्मा को गुजरात, दमन-दीव और दादर नगर का प्रभारी नियुक्त किया गया है। प्रधानमंत्री मोदी और अमित शाह के गढ़ में रघु शर्मा को पैर जमाने मे खासी मुश्किल हो सकती है।

वहीं कांग्रेस महासचिव रणदीप सुरजेवाला ने इस मसले पर आईएएनएस से बातचीत में कहा कि रघु शर्मा गुजरात में पहले भी कई जिलों के प्रभारी रह चुके हैं। वे छात्र विंग और यूथ कांग्रेस, संगठन में हर स्तर पर काम कर चुके हैं। साथ ही गुजरात के प्रभारी रहे राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के भी करीबी हैं, तो उन्हें गुजरात की जिम्मेदारी संभालने में ज्यादा परेशानी नहीं होगी।

हालांकि उनके कांग्रेस पार्टी में तीन राज्यों के प्रभारी और एक राज्य के चिकित्सा मंत्री दोनों पदों पर एक साथ बने रहने को लेकर सियासी गलियारों में चर्चा शुरू हो गई है, कि क्या रघु शर्मा अब जल्द ही चिकित्सा मंत्री की जिम्मेदारी से मुक्त होंगे?

दरअसल गुजरात में 11 महीने के बाद ही विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में उस राज्य को एक फुल टाइम प्रभारी की जरूरत है तो ऐसे में क्या रघु शर्मा मंत्री रहते हुए दोनों जिम्मदारियों को एक साथ निभा पाएंगे!

हालांकि मंत्री पद से हटाए जाने का फैसला मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को ही लेना है। लेकिन गुजरात को एक फुल टाइम प्रभारी के साथ-साथ एक फुल टाइम प्रदेश अध्यक्ष की भी जरूरत है। ऐसे में ये भी उम्मीद लगाई जा रही है कि रघु शर्मा के पदभार ग्रहण करने के बाद जल्द ही अगले कुछ महीनों में गुजरात को एक कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष की बजाए, एक प्रदेश अध्यक्ष मिल जाये। फिलहाल जिगनेश मेवाणी को गुजरात का कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है।

उल्लेखनीय है कि गुजरात के प्रभारी रहे राजीव सातव का 6 माह पहले निधन हो गया था। आगामी चुनाव के मद्देनजर वहां संगठन को नए प्रभारी की जरूरत थी।

--आईएएनएस

पीटीके/एएनएम

Share this story