लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में सिटिंग जज से जांच के आदेश दें: प्रियंका

लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में सिटिंग जज से जांच के आदेश दें: प्रियंका
लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में सिटिंग जज से जांच के आदेश दें: प्रियंका लखनऊ, 7 अक्टूबर (आईएएनएस)। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने गुरुवार को लखीमपुर खीरी हिंसा की सुप्रीम कोर्ट या हाईकोर्ट के किसी मौजूदा न्यायाधीश से जांच कराने की मांग की है।

उन्होंने यह भी कहा कि केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी (जिनके बेटे पर मामला दर्ज किया गया है) को निष्पक्ष जांच सुनिश्चित करने के लिए इस्तीफा देना चाहिए।

उन्होंने कहा, मेरे ख्याल से और पीड़ित परिवारों की भी, मामले की जांच सुप्रीम कोर्ट या हाईकोर्ट के किसी मौजूदा न्यायाधीश से होनी चाहिए, ना कि सेवानिवृत्त न्यायाधीश से।

राज्य सरकार ने गुरुवार को उच्च न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायाधीश प्रदीप श्रीवास्तव को लखीमपुर हिंसा की जांच के लिए नियुक्त किया था।

प्रियंका गांधी ने नवरात्रि के पहले दिन एक मंदिर का दौरा किया और कहा कि वह उपवास कर रही हैं। उन्होंने सभी के कल्याण के लिए प्रार्थना की।

इस बीच, जब वह गुरुवार को एक अन्य मृतक किसान के परिवार से मिलने के लिए बहराइच के लिए रवाना हुई, तो समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव और बहुजन समाज पार्टी के सांसद सतीश चंद्र मिश्रा रविवार की हिंसा में जान गंवाने वालों के परिवारों से मिलने लखीमपुर गए।

अखिलेश यादव ने केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा की गिरफ्तारी में हो रही देरी पर सवाल उठाते हुए कहा कि भाजपा सरकार से न्याय की उम्मीद करना बेमानी है।

वहीं, बीकेयू के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने रामपुर में पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि अगर 12 अक्टूबर तक आशीष मिश्रा को गिरफ्तार नहीं किया गया, तो बीकेयू बड़े पैमाने पर आंदोलन शुरू करेगा।

--आईएएनएस

एचके/आरजेएस

Share this story