लखीमपुर मामले में सियासत जारी, प्रियंका बोलीं, दोषियों पर कार्रवाई होने तक लड़ाई जारी रहेगी

लखीमपुर मामले में सियासत जारी, प्रियंका बोलीं, दोषियों पर कार्रवाई होने तक लड़ाई जारी रहेगी
लखीमपुर मामले में सियासत जारी, प्रियंका बोलीं, दोषियों पर कार्रवाई होने तक लड़ाई जारी रहेगी लखनऊ , 7 अक्टूबर (आईएएनएस)। लखीमपुर खीरी में रविवार को हुई हिंसा का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है। गुरुवार को भी इस पर सियासत जारी है। एक ओर इस मामले में जहां न्यायिक जांच के लिए एक सदस्यीय आयोग का गठन कर दिया गया है, वहीं दूसरी तरफ विपक्ष आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग कर रहा है। बुधवार को राहुल और प्रियंका गांधी के पीड़ित परिवारों से मिलने के बाद आज अखिलेश यादव, सतीश मिश्रा नवजोत सिद्घू समेत कई विपक्षी नेता लखीमपुर जाकर पीड़ित परिवारों से मिलेंगे।

लखनऊ से बहराइच के नानपारा में मृत किसान के घर जाने के लिए रवाना होने के दौरान प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि वह तो लखीमपुर खीरी में मृत भाजपा कार्यकर्ताओं के भी घर जाना चाहती थीं। उन्होंने कहा कि मैं तो भाजपा के जो कार्यकर्ता मरे हैं, उनके परिवार के लोगों से भी मिलना चाहती थी। मैंने आईजी से पूछा भी लेकिन आईजी ने कहा कि वह लोग नहीं मिलना चाहते हैं। मैं उनके परिवार के प्रति संवेदना प्रकट करती हूं। कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी बुधवार को पीड़ित परिवारों से मिलकर भले ही गुरुवार को नई दिल्ली लौट गए, लेकिन प्रियंका गांधी वाड्रा का संघर्ष जारी है। प्रियंका गांधी ने कहा कि इन सभी को इंसाफ मिले, इसके लिए मैं लडूंगी। जब तक मंत्री बर्खास्त नहीं होंगे और जब तक मंत्री का लड़का गिरफ्तार नहीं होगा तब तक तो मैं बिल्कुल अडिग रहूंगी। कल मैंने उन परिवारों को वचन दिया है।

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि जब तक गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष को गिरफ्तार नहीं किया जाता, तबतक मैं बिल्कुल अडिग रहूंगी। इस मामले में अभी तक किसी को भी न्याय नहीं मिला है।

--आईएएनएस

विकेटी/एएनएम

Share this story