लखीमपुर हिंसा मामले की निष्पक्ष तरीके से हो रही जांच : राज्यमंत्री मिश्रा

लखीमपुर हिंसा मामले की निष्पक्ष तरीके से हो रही जांच : राज्यमंत्री मिश्रा
लखीमपुर हिंसा मामले की निष्पक्ष तरीके से हो रही जांच : राज्यमंत्री मिश्रा नई दिल्ली, 6 अक्टूबर (आईएएनएस)। केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय कुमार मिश्रा ने बुधवार को कहा कि लखीमपुर खीरी हिंसा मामले की कई एजेंसियां निष्पक्ष तरीके से जांच कर रही हैं।

उन्होंने यह भी कहा कि जांच दल इस मामले की सभी कोणों से जांच कर रहे हैं और किसी जांच एजेंसी पर कोई दबाव नहीं है।

मंत्री ने इस मामले में अपने और अपने बेटे पर लगे आरोपों को विपक्षी दलों की साजिश बताते हुए आगे कहा कि लखीपुर खीरी हिंसा की जांच निष्पक्ष तरीके से की जा रही है।

उनके बेटे आशीष मिश्रा लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में अपनी कथित संलिप्तता को लेकर निशाने पर हैं। राज्यमंत्री ने 3 अक्टूबर को घटना होने के बाद पहली बार बुधवार को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से उनके आवास पर मुलाकात की।

बैठक आधे घंटे से अधिक समय तक चली। समझा जाता है कि उन्होंने इस मामले में अमित शाह को अपनी स्थिति स्पष्ट कर दी होगी। इससे पहले, वह नॉर्थ ब्लॉक स्थित अपने ऑफिस गए और वहां कुछ देर रुके।

लखीमपुर खीरी के तिकुनिया में रविवार को हुई हिंसक घटना के सिलसिले में उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा दर्ज प्राथमिकी में आशीष मिश्रा का नाम है। प्राथमिकी में कहा गया है कि राज्य के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य एक समारोह में भाग लेने केंद्रीय मंत्री के पुश्तैनी गांव जा रहे थे। काफिले की एक कार ने उनकी यात्रा का विरोध कर रहे किसानों को कथित रूप से कुचल दिया। उस घटना में एक स्थानीय पत्रकार और चार किसानों सहित कुल नौ लोग मारे गए।

आशीष मिश्रा के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है और उन पर हत्या और लापरवाही से कार चलाने के कारण किसानों की मौत होने का आरोप लगाया गया है। इस मामले में पुलिस की निष्क्रियता किसानों के साथ-साथ विपक्षी नेताओं के गुस्से को हवा दे रही है।

हालांकि, केंद्रीय मंत्री और उनके बेटे ने इस घटना में किसी भी तरह की संलिप्तता से स्पष्ट रूप से इनकार किया है। मंत्री ने दावा किया कि उनका बेटा 3 अक्टूबर को घटनास्थल पर मौजूद नहीं था।

विपक्षी नेता केंद्रीय मंत्री को बर्खास्त करने की मांग कर रहे हैं।

--आईएएनएस

एसजीके/एएनएम

Share this story