लालू प्रसाद में दलितों को ठगने का स्वभाव - जदयू अध्यक्ष

लालू प्रसाद में दलितों को ठगने का स्वभाव - जदयू अध्यक्ष
लालू प्रसाद में दलितों को ठगने का स्वभाव - जदयू अध्यक्ष पटना, 6 अक्टूबर (आईएएनएस)। बिहार में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) की सरकार में पशुपालन मंत्री रहे भोला राम तूफानी को लेकर मंगलवार को राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद के दिए गए बयान को लेकर जदयू के अध्यक्ष ललन सिंह ने बुधवार को पलटवार करते हुए निशाना साधा है। सिंह ने कहा कि महादलित समाज से आने वाले तूफानी को हेलीकॉप्टर में चढ़ाने के बहाने फर्जी कागजों पर हस्ताक्षर करवा लिए। उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद में दलितों को ठगने का स्वभाव है।

सिंह ने बुधवार को कहा कि दिवंगत नेता भोलाराम तूफानी बेहद सज्जन व्यक्ति थे। एक ईमानदार मंत्री को लालू प्रसाद ने चारा घोटाला के मामले में फंसा दिया।

जदयू नेता ने कहा कि तूफानी को हेलीकप्टर पर घुमाने की कहानी तो लालू प्रसाद ने बता दी, लेकिन यह नहीं बताया कि कैसे उन्होंने हेलीकॉप्टर पर घुमाने के बाद तूफानी से चारा घोटाले की फाइल पर हस्ताक्षर करवा लिए थे।

उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद ने यह नहीं बताया कि कैसे घोटालों की फाइल भोलाराम तूफानी के सामने आती गई और लालू प्रसाद अपनी मर्जी के मुताबिक उनसे साइन करवाते रहे।

उल्लेखनीय है कि लालू प्रसाद मंगलवार को राजद के प्रशिक्षण शिविर में वर्चुअली शामिल हुए थे, जिसमें उन्होंने एक संस्मरण सुनाते हुए बताया था कि कैसे वे पूर्व मंत्री भोलाराम तूफानी को हेलीकॉटर से पहली बार गांव भेजा था। जब तूफानी हेलीकॉप्टर पर पहली बार सवार हुए थे तब गांव के लोग क्या कहते थे।

लालू के इसी बयान के बाद जदयू के नेता ने निशाना साधा है। जदयू अध्यक्ष सिंह ने कहा, तूफानी जी से फर्जी दस्तावेजों पर हस्ताक्षर करवा लालू प्रसाद ने बिहार का खजाना लूटा और खुद के लिए बिहार व देश-विदेश में अथाह संपत्ति बनाई। उनकी साजिश व सदमा में भोला राम जी दिवंगत भी हो गए।

सिंह ने कहा कि लालू ने तूफानी को बलि का बकरा बना दिया और चारा घोटाले में अभियुक्त बना दिया।

उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद अपने बयानों से महादलितों का अपमान कर रहे हैं।

--आईएएनएस

एमएनपी/एएनएम

Share this story