विपक्षी दल अपना अस्तित्व बचाने के लिए घटना पर सेंक रहे राजनीतिक रोटी : स्वतंत्र देव सिंह

विपक्षी दल अपना अस्तित्व बचाने के लिए घटना पर सेंक रहे राजनीतिक रोटी : स्वतंत्र देव सिंह
विपक्षी दल अपना अस्तित्व बचाने के लिए घटना पर सेंक रहे राजनीतिक रोटी : स्वतंत्र देव सिंह लखनऊ, 6 अक्टूबर (आईएएनएस)। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने बुधवार को विपक्षी दलों पर हमला बोला और कहा कि लखीमपुर की घटना दुखद है, लेकिन विपक्षी दल अपना अस्तित्व बचाने के लिए घटना पर राजनीतिक रोटियां सेकने में लगे हैं। जबकि पीड़ित पक्ष और किसान संगठन सरकार की कार्रवाई से संतुष्ट हैं।

भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने बुधवार को अपने जारी बयान में कहा कि विपक्ष मौतों पर अपनी वोट बैंक की राजनीति का घिनौना खेल बंद करे। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि लखीमपुर की घटना दुखद है, लेकिन विपक्षी दल अपना अस्तित्व बचाने के लिए घटना पर राजनीतिक रोटियां सेकने में लगे हैं। उन्होंने कहा कि पूरे प्रकरण की निष्पक्ष जांच चल रही है, ऐसे में विपक्षी दल शांति भंग करने की कोशिश न करें।

कहा कि कांग्रेस पर गैरजिम्मेदाराना रवैये का आरोप लगाते हुए कहा कि लखीमपुर जाने की अनुमति मिलने के बावजूद केवल मीडिया की सुर्खियां बटोरने के लिए एयरपोर्ट पर कांग्रेस के युवराज द्वारा किया गया हाईवोल्टेज ड्रामा दर्शाता है कि वे कितने गंभीर हैं।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि एक तरफ जांच एजंेसियां हैं, जो लगातार घटना से जुड़े साक्ष्य एकत्र कर अपनी जांच को आगे बढ़ा रही है, ताकि जल्द से जल्द दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई की जा सके, दूसरी तरफ विपक्षी दल हैं जो घटना के तुंरत बाद से ही अपनी सियासी उड़ान के मौके तलाशने में जुट गए हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस-सपा-बसपा व अन्य विपक्षी दलों की हमदर्दी पीड़ित पक्षों के साथ नहीं है, बल्कि उनका उद्देश्य अपने वोट बैंक की सियासत करना भर है।

सिंह ने कहा कि राहुल गांधी हमेशा संवेदनशील घटनाओं पर असंवेदनशील राजनीति करते हैं। उनका किसानों के हितों से कोई लेना-देना नहीं है। राहुल गांधी ने लखीमपुर से पहले राजस्थान के किसानों की चिंता क्यों नहीं की? राजस्थान में वहां की कांग्रेस सरकार द्वारा किसानों पर किए गए बर्बारता पूर्वक लाठीचार्ज में घायल किसान अस्पतालों में भर्ती हुए, लेकिन राहुल चुप्पी साधे रहे।

स्वतंत्र देव ने कहा कि लखीमपुर प्रकरण में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पहले दिन ही घटना को गंभीरता से लेते हुए निष्पक्ष जांच कर दोषियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई के आदेश दे दिए थे।

--आईएएनएस

विकेटी/एसजीके

Share this story