शिक्षकों के घड़े से पानी पीने को लेकर दलित छात्रा की पिटाई के बाद जांच के आदेश

शिक्षकों के घड़े से पानी पीने को लेकर दलित छात्रा की पिटाई के बाद जांच के आदेश
शिक्षकों के घड़े से पानी पीने को लेकर दलित छात्रा की पिटाई के बाद जांच के आदेश महोबा, 8 मई (आईएएनएस)। महोबा जिले के छिखारा गांव के प्राथमिक विद्यालय में एक शिक्षक ने स्टाफ के लिए रखे घड़े से पानी पीने के लिए एक दलित छात्रा की कथित तौर पर पिटाई कर दी। घटना की जांच के आदेश दिए हैं।

अनुमंडल दंडाधिकारी (एसडीएम) जितेंद्र सिंह ने अतिरिक्त बेसिक शिक्षा अधिकारी को घटना की जांच कर रिपोर्ट सौंपने का आदेश दिया है।

इस दौरान लड़की के परिजन व ग्रामीणों ने तहसील कार्यालय के बाहर हंगामा किया।

छिखारा गांव की रहने वाली बच्ची एक बेसिक स्कूल में सातवीं कक्षा की छात्रा है।

उसने बताया कि स्कूल में शिक्षकों और छात्रों के पानी पीने के लिए घड़े रखे गए हैं।

शनिवार को छात्रों के लिए रखा गया घड़ा खाली था, तो उसने शिक्षकों के घड़े से पानी पी लिया।

इस पर सहायक शिक्षक कल्याण सिंह ने उसके साथ मारपीट की।

किशोरी ने घर पहुंचकर अपने माता-पिता को घटना के बारे में बताया।

उसके पिता रमेश कुमार कई ग्रामीणों के साथ स्कूल पहुंचे।

आरोप है कि तब भी संबंधित शिक्षक ने जातिसूचक शब्दों का प्रयोग कर उनके साथ दुर्व्यवहार किया।

इसके बाद सभी ने तहसील पहुंचकर हंगामा किया और कार्रवाई की मांग की।

अपर बीएसए गौरव शुक्ला ने रविवार को बताया कि स्कूल में शिक्षक और छात्र के बयान दर्ज कर लिए गए हैं।

लड़की ने कहा कि उसके साथ पहले कभी भेदभाव नहीं किया गया। जांच रिपोर्ट वरिष्ठ अधिकारियों को सौंपी जाएगी।

वहीं शिक्षिका कल्याण सिंह ने बताया कि छात्रा घड़े में हाथ डालकर गिलास से पानी निकाल रही थी।

सिंह ने कहा कि इसके लिए उसे डांटा गया था और मैंने छात्रा की पिटाई नहीं की थी।

--आईएएनएस

एमएसबी/आरएचए

Share this story