सपा के कार्यक्रम पर महामारी एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज

सपा के कार्यक्रम पर महामारी एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज
सपा के कार्यक्रम पर महामारी एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज लखनऊ, 14 जनवरी (आईएएनएस)। समाजवादी पार्टी (सपा) के राज्य मुख्यालय में शुक्रवार को स्वामी प्रसाद मौर्य व धर्म सिंह सैनी के अलावा अन्य विधायकों के पार्टी में शामिल होने पर आयोजन हुआ था। इस दौरान कोविड प्रोटोकॉल और धारा 144 का खुला उल्लंघन किया गया। हजारों की भीड़ जुटी थी। चुनाव आयोग के निर्देश पर महामारी एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज कराने का निर्देश दिया है।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के बागी कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या, धर्म सिंह सैनी सहित कई नेता समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण करने जा रहे थे। इसके लिए शुक्रवार को सपा मुख्यालय पर समारोह का आयोजन किया गया था। इसमें इन नेताओं ने अपनी ताकत का एहसास कराने के लिए हजारों की भीड़ जुटाई। वहां कार्यालय परिसर से लेकर बाहर मुख्य सड़क तक भीड़ जमा हो गई थी।

चुनाव आयोग के निर्देश पर सपा कार्यालय में कार्यक्रम में भीड़ को देखते हुए महामारी एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज की गई है। इसके साथ ही लखनऊ के गौतम पल्ली थाना में धारा 144 के उल्लंघन का भी केस दर्ज किया गया है। लखनऊ में समाजवादी पार्टी के कार्यालय में कोरोना प्रोटोकाल को ताक पर रखकर छोटी रैली आयोजित की गई। इस दौरान मंच पर अखिलेश यादव तथा स्वामी प्रसाद मौर्य के साथ ही अन्य काफी लोग बिना मास्क के थे। इतना ही नहीं सपा कार्यालय में बड़ी तादाद में लोग बिना मास्क लगाए टहल रहे थे। उत्साह में नियम को ताक पर रखने के मामले में जिला निर्वाचन अधिकारी अभिषेक प्रकाश ने गंभीरता से लिया है। अब समाजवादी पार्टी पर एक्शन होना तय है।

जिला अधिकारी ने कहा कि सपा का कार्यक्रम बिना अनुमति के हो रहा है। हवाला दिया कि लखनऊ में धारा 144 लागू है। ऐसे में एक स्थान पर पांच या उससे अधिक लोग जुट नहीं सकते हैं। वहीं कोविड-19 का संक्रमण भी काफी तेज है। उसके नियमों का भी खुला उल्लंघन किया गया है।

वहीं सपा के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने कहा कि पार्टी कार्यालय के अंदर वर्चुअल बैठक चल रही थी। हमने किसी को नहीं बुलाया था लेकिन लोग खुद आ गए। लोग कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए काम कर रहे थे।

--आईएएनएस

विकेटी/एएनएम

Share this story