सिवनी में आदिवासियों की हत्या में गृहमंत्री से अलग है थानेदार का बयान

सिवनी में आदिवासियों की हत्या में गृहमंत्री से अलग है थानेदार का बयान
सिवनी में आदिवासियों की हत्या में गृहमंत्री से अलग है थानेदार का बयान भोपाल, 5 मई (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश के सिवनी जिले में दो आदिवासियों की गौमांस के शक में हुई हत्या के मामले में गृहमंत्री डा. नरोत्तम मिश्रा और कुरई थाना क्षेत्र के थानेदार का बयान एक-दूसरे से अलग है। इसी को लेकर कांग्रेस ने निशाना साधा है। साथ ही कहा है कि थानेदार ने गृहमंत्री केा आईना दिखाया है।

ज्ञात हेा कि सिवनी के कुरई थाना क्षेत्र के सिमरिया गांव में एक घर में गौ हत्या कर मांस निकाले जाने की सूचना पर कुछ लोगों ने वहां पहुंचकर मारपीट की, इस मारपीट में देा की मौत हो गई, जबकि एक घायल है।

गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने इस मामले में 13 लोगों की गिरफ्तार के साथ पीड़ितों को सरकारी मदद और जान गंवाने वाले लोगों के परिजन को नियुक्ति की बात कही। साथ ही कहा कि इस मामले में अब तक प्रथम ²ष्टया बजरंग दल से जुड़े लोगों की बात सामने नहीं है।

इस पर कांग्रेस के प्रदेषाध्यक्ष कमल नाथ के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने थानेदार जी एस उईके का वीडियो जारी करते हुए कहा है कि मध्यप्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा कह रहे है कि आरोपियों का बजरंग दल से कोई संबंध नही है और वही सिवनी जिले के कुरई के एसएचओ स्वीकार रहे है कि इस घटना में तीन आरोपी बजरंग दल के हैं और छह श्रीराम सेना के है।

--आईएएनएस

एसएनपी/एचके

Share this story