हिमाचल में रिकॉर्ड 7.93 लाख घरों को मिले नल के पानी के कनेक्शन

हिमाचल में रिकॉर्ड 7.93 लाख घरों को मिले नल के पानी के कनेक्शन
हिमाचल में रिकॉर्ड 7.93 लाख घरों को मिले नल के पानी के कनेक्शन शिमला, 9 जनवरी (आईएएनएस)। भारत-चीन सीमा के पास देश के सबसे ऊंचे मतदान केंद्र स्पीति घाटी के ताशीगंग गांव में नल के पानी से जुड़ा होने के कारण हिमाचल प्रदेश में दो साल में रिकॉर्ड 7.93 लाख घरों को नल से जोड़ा गया है और नए कनेक्शन 72 वर्षों में लगाए गए 7.63 लाख से अधिक नल हैं। रविवार को एक बयान जारी कर यह जानकारी दी गई।

केंद्र सरकार ने जल जीवन मिशन (जेजेएम) की शुरुआत की थी, जिसके तहत सभी घरों में नलों के माध्यम से सभी घरों में जलापूर्ति की व्यवस्था की गई थी।

राज्य ने योजना के सफल कार्यान्वयन को सुनिश्चित करने के लिए कठोर प्रयास किए हैं।

राज्य का लक्ष्य वर्ष 2022 तक हर घर में नल का पानी उपलब्ध कराना है, जबकि राष्ट्रीय लक्ष्य 2024 तक पानी उपलब्ध कराना है।

जेजेएम के तहत, राज्य के जल शक्ति विभाग, (जिसे पहले सिंचाई और सार्वजनिक स्वास्थ्य (आईपीएच) के नाम से जाना जाता था) ने सुरक्षित जल आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए 14 जिला-स्तरीय और 42 उपखंड-स्तरीय जल टेस्टिंग प्रयोगशालाएं लगाए हैं।

इनमें से 37 प्रयोगशालाओं को टेस्टिंग और केलीब्रेशन प्रयोगशालाओं (एनएबीएल) के लिए राष्ट्रीय प्रत्यायन बोर्ड द्वारा प्रमाणित किया गया है।

एक राज्य स्तरीय प्रयोगशाला भी स्थापित की जा रही है, जहां सुरक्षित पेयजल सुनिश्चित करने के लिए पानी के नमूनों का टेस्ट किया जाएगा।

जल गुणवत्ता और संरक्षण विषय के तहत, जल शक्ति विभाग ने राज्य के स्वर्ण जयंती समारोह के हिस्से के रूप में कार्यक्रमों का आयोजन किया था। पिछले दो वर्षों में 371,080 पानी के नमूनों की जांच की गई।

राज्य में पानी के सैंपलिंग बढ़ाने के लिए जून और अक्टूबर, 2021 में भी अभियान चलाया गया था। इस अवधि के दौरान प्रयोगशालाओं में 64,701 पानी के नमूनों का जांच की गई और 54,394 पानी के नमूनों की जांच क्षेत्र में टेस्िंटग के माध्यम से किया गया।

राज्य ने राज्य के हर नुक्कड़ और कोने में पीने योग्य पीने के पानी की कनेक्टिविटी सुनिश्चित की है।

हिमाचल प्रदेश ने घरेलू नलों के माध्यम से पर्याप्त पेयजल उपलब्ध कराने में भी देश में प्रथम स्थान प्राप्त किया है।

--आईएएनएस

एचके/एसजीके

Share this story