central vista project नहीं रुकेगा काम पिटीशनर पर लगा एक लाख का जुर्माना 

सेंट्रल विस्टा

 1000 करोड़ रूपये केवल किराये पर जा रहे थे | यह वैनिटी प्रोजेक्ट नहीं है केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने बताया की सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट को क्यों बनाया जा रहा है | आज़ादी के इतने सालों बाद हमारे पास अपनी बिल्डिंग नहीं है | कांग्रेस ने 2012 में ही नए भवन के लिए पूजन किया था | जो भी किराया अभी जा रहा है 

 कांग्रेस के ही लोगों का है | हरदीप सिंह पूरी  ने कांग्रेस पर जम कर प्रहार किया | उन्होंने बताया की इन्हीं लोगों ने पहले भी वैक्सीन का विरोध किया था अब कह रहे हैं की वैक्सीन नहीं है | उन्होंने कहा की हेल्थ के लिए वैक्सीन के लिए जो बजट है उसके लिए कोई भी कमी नहीं है | 

टोटल खर्चा लगभग 1300 करोड़ का आएगा सेन्ट्रल विस्टा बनाने हैं |  

सेन्ट्रल विस्टा प्रोजेक्ट क्या है?

सेन्ट्रल विस्टा प्रोजेक्ट एक ऐसा कार्यालय  है जिसमे प्रधानमंत्री कार्यालय के साथ ही आवासीय  परिसर भी बनाये जाएंगे यह सारे कार्यालय अभी तक किराये के भवन में चल रहा है | 

महत्वपूर्ण मामले में हाईकोर्ट दिल्ली ने हस्तक्षेप करने से मन कर दिया और  कहा की यह याचिका ill intention से लाया गया है | इस पर कोर्ट ने याचिका करता पर एक लाख का जुर्माना लगाया है | 

Share this story