डॉक्टर नित्यानंद जी के निधन से संपूर्ण फार्मा जगत में शोक व्याप्त 

डॉक्टर नित्यानंद जी के निधन से संपूर्ण फार्मा जगत में शोक व्याप्त 
लखनऊ। औषधि अनुसंधान के महान वैज्ञानिक फार्माजगत के पितामह प्रोफेसर डॉक्टर नित्यानंद जी के निधन से संपूर्ण फार्मा जगत में शोक व्याप्त है ।  फार्मेसिस्ट फेडरेशन के अध्यक्ष और स्टेट फार्मेसी काउंसिल के पूर्व चेयरमैन सुनील यादव ने दुःख व्यक्त करते हुए कहा कि प्रो नित्यानंद देश की अमूल्य धरोहर थे ।  सबसे सस्ती गर्भ निरोधक गोली सहेली की खोज उन्होंने ही की थी । उन्होंने लगातार औषधि अनुसंधान कार्य करते हुए देश का नाम ऊंचा किया और जनता को अनेक बीमारियों से लड़ने और  स्वस्थ रखने में मदद की ।  कल प्रदेश के सभी जनपदों में फेडरेशन के साथी उनको याद करेंगे और श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे ।

पद्मश्री प्रोफेसर डॉक्टर नित्यानंद साहब (जन्म - 01 जनवरी 1925) के दुखद शोकपूर्ण देवलोकागमन से न केवल उत्तर प्रदेश ने अपितु भारतवर्ष ने अपने एक सच्चे कर्तव्यनिष्ठ देशभक्त सपूत को खो दिया है 

दिनांक 27 जनवरी 2024 के प्रातः काल 8:00 बजे पद्मश्री प्रोफेसर डॉक्टर नित्यानंद साहब (जन्म - 01 जनवरी 1925) के दुखद शोकपूर्ण देवलोकागमन से न केवल उत्तर प्रदेश ने अपितु भारतवर्ष ने अपने एक सच्चे कर्तव्यनिष्ठ देशभक्त सपूत को खो दिया है। डॉ० नित्यानंद की जीवनी (संलग्न) एक जीवंत प्रेरणास्रोत तो है ही, साथ ही आगामी पीढ़ियों को हमेशा ऊर्जास्रोत, पथप्रदर्शन एवं मार्गदर्शन प्रदान करती रहेगी। अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त चिकित्सा वैज्ञानिक प्रोफेसर नित्यानंद भारतीय फार्मास्यूटिकल इंडस्ट्री के भीष्म पितामह के रूप में प्रख्यात रहे हैं सदैव अपने बहुमूल्य व अतुलनीय योगदान के लिए देश को स्मरण रहेंगे।

डॉ० नित्यानंद, भारतीय दवा उद्योग की एकमात्र जननी संस्थान, विश्व विख्यात केंद्रीय औषधि अनुसंधान संस्थान - सीडीआरआई - Central Drug Research Institute, India के नाम से लोकप्रिय) के संस्थापक निदेशकों में से रहे हैं।वैज्ञानिक समुदाय में अब तक की ईजा़द इकलौती नॉन हार्मोनल, नों स्टेरॉयडल कांट्रेसेप्टिव पिल (गैर हार्मोनल, गैर स्टेरॉइडल गर्भनिरोधक गोली), 'सहेली', जिसे एक समय में नोबेल पुरस्कार से पुरस्कृत करने तक के लिए विचार किया जा रहा था, के जनक भी प्रोफेसर नित्यानंद ही थे। वर्तमान में यह औषधि 'छाया' के नाम से राष्ट्रीय परिवार नियोजन कार्यक्रम (National family planning program) में भी अंगीकृत है। परमपिता परमेश्वर डॉक्टर नित्यानंद की आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान प्रदान करें, ऐसी मंगल कामनाओं के साथ,
ॐ शांति शांति शांति!🙏🏼

Statement from Dr Radha Rangarajan

Dr Nityanand was an extraordinary scientist, an amazing human being and legendary Director of CDRI.Dr Nityanand was a medicinal chemist and led the team that discovered and developed the world's only non steroidal contraceptive. This drug has played a major role in India's family planning programme. He made many contributions to the institute and the country including the setting up of the Indian Pharmacopeia Commission.He remained active as a scientist well past his retirement from the Institute and stayed immersed in science till the very end.  He is India's foremost leaders in drug discovery. He will be dearly missed


ब्यूरो चीफ आर एल पाण्डेय

Share this story