यहां कोई कमी नही आक्सीजन की रेलवे  ग्रीन  कॉरिडोर से पूरे देश मे  सप्लाई शुरू 

यहां कोई कमी नही आक्सीजन की रेलवे ग्रीन कॉरिडोर से पूरे देश मे सप्लाई शुरू

 Oxygen Express जब देश ऑक्सीजन की किल्लत से जूझ रहा था ऐसे में रेलवे ने एक बड़ा कदम उठाते हुए पूरे देश में ऑक्सीजन की सप्लाई को करने के लिए ग्रीन कॉरिडोर बनाकर ऑक्सीजन की सप्लाई करने को जब कहा तो उसका कई सारे विरोधी दलों ने उस पर कई सारे सवाल भी खड़े किए थे लेकिन अब स्थिति यह है कि पूरे देश पर ऑक्सीजन की सप्लाई धीरे धीरे कुछ दिनों में सामान्य होने की उम्मीद है क्योंकि जहां भी ऑक्सीजन उपलब्ध है वहां से ऑक्सीजन ऐसी जगह पर पहुंचाया जा रहा है जहां ऑक्सीजन की विशेष जरूरत है जैसा कि अभी अगर इस सीट पर नजर डालें तो उसमें आप पाएंगे कि ग्रीन कॉरिडोर है क्या इस बारे में पूरा डिटेल बताया गया है और यह दिखाया जा रहा है कि डबल इंजन लगाकर ट्रेन में ऑक्सीजन के टैंकर की सप्लाई की जा रही है और उसमें इस तरीके से व्यवस्थाएं बनाई जाती है कि इसको बिजली की सप्लाई से भी चला जाता है और अगर बिजली की सप्लाई में कहीं भी कोई भी दिक्कत आ जाए फिर भी यह ट्रेन रुकने वाली नहीं है इसी को ग्रीन कॉरिडोर कहा जाता है और यह स्थितियां हमेशा युद्ध की स्थिति में खास करके सेना के द्वारा एक जगह से दूसरी जगह आने जाने में और आयुष गया अन्य सामानों की आपूर्ति इमरजेंसी में करने के लिए इस पर तरीके से रेलवे के द्वारा ग्रीन कॉरिडोर बनाया जाता और यही स्थिति इस समय भी है जब ग्रीन कॉरिडोर के द्वारा ऑक्सीजन की सप्लाई रेलवे द्वारा की जा रही है।

बोकारो स्टील प्लांट के इंचार्ज के द्वारा बताया गया कि लिक्विड ऑक्सीजन पूरे देश में सप्लाई की जा रही है और जहां से भी टैंकर आ रहे हैं उनको फिर से भरवा कर वापस भिजवाया जा रहा है जिससे ऑक्सीजन की जो भी कमियां है उसको दूर किया जा सके डायरेक्टर इंचार्ज बोकारो स्टील कमेटी ने बताया है कि उनके यहां प्रोडक्शन जो ऑक्सीजन का है पर्याप्त मात्रा में है और जो इंडस्ट्री को सप्लाई की जा रही थी वह कम कर दी गई है और उनके पास में पर्याप्त कितनी व्यवस्थाएं हैं कि वह कई राज्यों को अभी भी सप्लाई दे रहे हैं और उनके तरफ से कहीं भी कोई भी कमी नहीं आ रही है ऑक्सीजन की उपलब्धता के बारे में किसी को भी परेशान होने की जरूरत नहीं है क्योंकि बोकारो स्टील प्लांट में ऑक्सीजन के प्रोडक्शन को भी बढ़ा दिया है।

समरजीत नारायण जिन्होंने स्टील प्लांट को अपनी 35 साल की सर्विस दी उनके द्वारा tweet  में यह कहा गया कि बोकारो स्टील प्लांट के लोगों से जब उन्होंने बात की तो उनको बताया गया कि 3 टैंकर ऑक्सीजन एक्सप्रेस के द्वारा थ्लखनऊ से आए थे और लगभग 50 टन 3 टैंकरों में ऑक्सीजन भर के उसको वापस किया जा रहा है जिससे लखनऊ में जो कमियां हैं ऑक्सीजन की उसको दूर किया जा सके समरजीत नारायण ने इस बारे में यह भी सवाल किया था कि 3 ही टैंकर क्यों भेजे गए क्योंकि जिस तरीके से उत्तर प्रदेश की स्थितियां हैं यहां जो सबसे बड़ी कमी अभी आ रही है वह ऑक्सीजन सप्लाई की आ रही है।

Share this story

Appkikhabar Banner29042021