Sleeping Disorder according Jyotish -इस वजह से नहीं आती अच्छी नींद, जानिए ज्योतिष के सटीक उपाय

Sleep
ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक अच्छी नींद के लिए बुध ग्रह का अहम स्थान होता है।

Astrological remedies for best sleep in hindi: सुख और समृद्धि की चाहत आज हर इंसान को है।  इसे पाने के लिए मनुष्य हर संभव प्रयास करता है। जिसमें कई बार वह सफल भी होता है और कभी-कभी सफलता भी मिलती है। परंतु, बहुत बार ऐसा भी होता है कि लाख कोशिश के बावजूद भी सुख नहीं मिलता। सुख पाने के लिए अच्छी नींद का होना बहुत जरूरी है। बिना अच्छी नींद के इंसान कई प्रकार की मानसिक बीमारियों से ग्रसित हो जाता है। जिसके परिणामस्वरूप इंसान जीवन में कुछ भी हासिल नहीं कर पाता है। अच्छी नींद के लिए ज्योतिष शास्त्र में कुछ उपाय बताए गए हैं। जानिए अच्छी नींद के लिए ज्योतिषीय उपाय (astrological remedy for sleeping)

what is a sleeping disorder ?

अगर नींद अपने तय समय पर नहीं आता है या नींद आने के बाद अगर बार बार नींद खुलती है तो इसे sleeping disorder कहते हैं इसका सीधा सा सम्बन्ध ज्योतिष से होता है और बुद्ध ग्रह के कारण ही शांतिपूर्वक नींद आती है या नहीं आती है | 

Astrological remedies for best sleep in hindi/अच्छी नींद का कारक बुध ग्रह और उसका उपाय

ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक अच्छी नींद के लिए बुध ग्रह का अहम स्थान होता है। बुद्धि जब स्थिर रहती है तो नींद भी अच्छी आती है। ऐसा इसलिए क्योंकि स्थिर बुद्धि से ही मन को नियंत्रित किया जा सकता है। 

बुध ग्रह को नियंत्रित करने के उपाय- 1

"ऊँ उद्बुध्यस्वाग्ने प्रतिजागृहि त्वमिष्टापूर्ते स सृजेथामयं च। अस्मिन्त्सधस्थे अध्युत्तरस्मिन्विश्वे देवा यजमानश्च सीदत" बुध के इस वैदिक मंत्र का जाप करना चाहिए। अगर उच्चारण में दिक्कत हो तो किसी योग्य पंडित से अपने लिए करवा सकते हैं।

उपाय- 2: ऊँ चन्द्रपुत्राय विदमहे रोहिणी प्रियाय धीमहि तन्नोबुध: प्रचोदयात" बुध के इस गायत्री मंत्र का जाप कर सकते अथवा करवा सकते हैं।

उपाय- 3 "प्रियंगुकलिकाश्यामं रुपेणाप्रतिमं बुधम। सौम्यं सौम्यगुणोपेतं तं बुधं प्रणमाम्यहम" बुध के इस पौराणिक मंत्र का भी अच्छी नींद के लिए लाभकारी है।

उपाय- 4 "ऊँ बुं बुधाय नम:" बुध का यह नाम मंत्र भी अच्छी नींद के लिए सहायक साबित हो सकता है।

अच्छी नींद का कारक मंगल और उसका उपाय

ज्योतिष के मुताबिक कुंडली में मंगल ग्रह की स्थिति यदि अच्छी है तो निश्चित रूप से नींद अच्छी आएगी। वहीं यदि मंगल की स्थिति ठीक नहीं है तो अच्छी नींद आना असंभव होता है। 

उपाय- 1 "ॐ क्रां क्रीं क्रौं सः भौमाय नमः" मंगल के इस बीज मंत्र का जाप करने से मंगल के अशुभ प्रभाव शांत हो जाते हैं। जिस कारण नींद अच्छी आती है।

उपाय - 2 “ॐ अंगारकाय विद्महे शक्ति हस्ताय धीमहि, तन्नो भौमः प्रचोदयात्” मंगल-गायत्री मंत्र के जाप से मंगल का दोष खत्म हो जाता है। जिससे नींद अच्छी आती है।

उपाय- 3 "ॐ धरणीगर्भसंभूतं विद्युतकान्तिसमप्रभम। कुमारं शक्तिहस्तं तं मंगलं प्रणमाम्यहम" मंगल के इस मंत्र का जाप भी अच्छी नींद के लिए लाभकारी साबित हो सकता है।

अच्छी नींद का कारक शनि और उसका उपाय

ज्योतिष के अनुसार अच्छी नींद के लिए शनि ग्रह की भी अहम भूमिका होती है। ऐसा इसलिए क्योंकि शनि कर्मफल दाता हैं। ऐसे में जब इंसान अपने कर्म से संतुष्ट होता है तो उसे अच्छी नींद आती है। शनि के अशुभ प्रभाव से मुक्ति पाने के लिए शनि मंत्रो का जाप लाभकारी होगा।

शनि वैदिक मंत्र- "ऊँ शन्नोदेवीर भिष्टयऽआपो भवन्तु पीतये शंय्योरभिस्त्रवन्तुनः" इस मंत्र के जाप से कुंडली के अशुभ प्रभाव से मुक्ति मिलती है। 

"ॐ प्रां प्रीं प्रौं स: शनैश्चराय नम:" इस शनि-मंत्र के जाप से भी शनि दोष दूर होता है। 


अन्य उपाय- 

अच्छी नींद के लिए ऊपर दिए गए मंत्रों के अलावा दुर्गा शप्तशती में भी अनिद्रा (नींद न आने की समस्या) को दूर करने के लिए एक मंत्र का उल्लेख मिलता है। मंत्र है- "या देवी सर्वभूतेषु निद्रा-रूपेण संस्थिता। नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः"

Share this story