Jyotish: घर में अचानक कोई पड़ जाए बीमार, ज्योतिष में बताए गए हैं ये उपाय

Jyotish: घर में अचानक कोई पड़ जाए बीमार, ज्योतिष में बताए गए हैं ये उपाय
illness remedies in astrology: आमतौर पर खाँसी की समस्या चंद्रमा और मंगल की गड़बड़ी से होती है।

Astrology remedies for sudden illness: 
बीमारी के बारे में सुनकर लोग चिंतित होते हैं। यह प्रायः हर घर में देखने को मिलता है। हालांकि घर-परिवार में लोग कई कारणों से बीमार पड़ते हैं। परंतु, ज्योतिष में बीमारी को नक्षत्र और ग्रहों से जोड़कर देखा गया है। जिसके मुताबिक शरीर में पाँच तत्व की प्रधानता होती है। ये पृथ्वी, जल, वायु, आकाश और अग्नि हैं। इसके अलावा शरीर की तीन प्रकृति-कफ, पित्त और वात भी अहम स्थान रखते हैं। ज्योतिष अनुसार ये पांचो तत्व और तीन धातुएं, नौ ग्रहों और 12 राशियों से नियंत्रित होते हैं। ऐसे में अगर कुंडली में कोई तत्व कमजोर हो जाए तो व्यक्ति बीमार पड़ता है। आगे पढ़िए कुछ खास बीमारियों के लिए ज्योतिष में क्या उपाय सुझाए गए हैं।

सर्दी जुकाम और खाँसी के लिए (for cough problem)

आमतौर पर खाँसी की समस्या चंद्रमा और मंगल की गड़बड़ी से होती है। वैसे लोग जो इस समस्या से ग्रसित हैं, उन्हें देर रात तक जगने से बचना चाहिए। साथ ही सुबह देर से उठने से बचना चाहिए। 

चांदी के गिलास में पानी पिएं, यदि चांदी-गिलास में पानी पीने में अक्षम हैं तो पात्र में चांदी का सिक्का डालकर रखें, कुछ समय बाद पानी का सेवन करें। जिससे चंद्रमा मजबूत होगा और इस बीमारी से छुटकारा मिलेगा।

स्किन की समस्या के लिए (for skin problem)

त्वचा की समस्या के लिए मुख्य रूप से बुध ग्रह जिम्मेदार होता है। वहीं कभी-कभी मंगल और सूर्य का कमजोर होना भी स्किन की समस्या उत्पन्न करता है।

नियमित तौर पर उगते हुए सूर्य को जल देना चाहिए। साथ ही किसी ज्योतिषी से सलाह लेकर बुधवार को कांसे का एक छल्ला बुधवार के दिन धारण करना चाहिए।

आंखों की समस्या के लिए (for eye problem)

आंखों की समस्या के लिए मुख्य रूप से सूर्य ग्रह जिम्मेदार होता है। हालांकि कभी-कभी शुक्र की गड़बड़ी से भी आंखों की समस्या होती है।

आंखों की रोशनी की समस्या हो तो सुबह खाली पैर घास पर टहलना चाहिए। इसके अलावा नाख़ून नहीं चबाना चाहिए। 

आंखों से पानी गिरता हो तो इसके लिए सूर्योदय के समय सूर्य की रोशनी के सामने कुछ देर बैठें। 

हड्डियों और सिर दर्द की समस्या के लिए (for headache and bone problem)

हड्डियों की समस्या मुख्य रूप से सूर्य और शनि से संबंध रखती है। ऐसे में इस समस्या से निजात पाने के लिए कनिष्ठा अंगुली (सबसे छोटी) के नीचे कुछ देर तक दबाने से भी राहत मिल सकता है।

बुखार के लिए (remedy for fever)

बुखार कोई बीमारी नहीं बल्कि इसकी सूचना है। यदि बुखार नियमित रूप से आए तो सबसे पहले शरीर को विषमुक्त करिए। साथ ही हर रविवार उपवास रखें। रोज सुबह खाली पेट तुलसी के पत्ते का सेवन करें।

पेट की समस्या के लिए (for acidity, gas, constipation)

बृहस्पति और चंद्रमा की समस्या से पाचन तंत्र और पेट की समस्या पैदा होती है। ऐसे में ताँबे के गिलास या उसके बर्तन का पानी पिएं। साथ ही साथ नियमित रूप से हरे रंग का प्रयोग करें लाभ होगा।

Share this story