Ayodhya Ram Mandir : जानिए राम मंदिर तोड़ने से लेकर बनने तक पूरी कहानी 

Ayodhya Ram Mandir : जानिए राम मंदिर तोड़ने से लेकर बनने तक पूरी कहानी 
Ayodhya Ram Mandir : राम मंदिर तोड़ने से लेकर बनने की कहानी  बहुत  पुरानी है। इस कहानी की शुरुआत 1528 में हुई जब मुगल सम्राट बाबर ने अयोध्या में एक मंदिर को तोड़कर बाबरी मस्जिद का निर्माण करवाया। इस घटना से हिंदुओं में जबरदस्त आक्रोश फैल गया और उन्होंने कई बार इस मस्जिद को तोड़ने का प्रयास किया।

हिंदू और मुस्लिम समुदायों के बीच मंदिर और मस्जिद को लेकर विवाद चलता 

फिर 1984 में विश्व हिंदू परिषद  ने राम मंदिर आंदोलन की शुरुआत की। इस आंदोलन के तहत, हिंदू समूहों ने बाबरी मस्जिद को तोड़ने और वहां राम मंदिर बनाने की मांग की। 6 दिसंबर, 1992 को, हजारों हिंदू कार्यकर्ताओं ने अयोध्या में बाबरी मस्जिद को तोड़ दिया। इस घटना से देशभर में सांप्रदायिक दंगे हुए और जिसमें सैकड़ों लोग मारे गए।

बाबरी मस्जिद के विध्वंस के बाद औत्र इस मामले को सुप्रीम कोर्ट में ले जाया गया। 9 नवंबर, 2019 को, सुप्रीम कोर्ट ने एक ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए, बाबरी मस्जिद के विध्वंस को अवैध करार दिया। साथ ही, कोर्ट ने विवादित भूमि को तीन बराबर हिस्सों में बांटने का आदेश दिया।

आज  राम मंदिर का प्राण प्रतिष्ठा होने जा रह है 

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद, राम मंदिर निर्माण के लिए एक ट्रस्ट का गठन किया गया। इस ट्रस्ट के अध्यक्ष प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं। ट्रस्ट ने 5 अगस्त, 2020 को राम मंदिर का शिलान्यास किया।  उसके बाद  राम मंदिर का निर्माण कार्य तेजी से चलने लगा था  और  यह 2024 तक बनकर तैयार हो चूका है राम मंदिर का निर्माण हिंदुओं के लिए एक ऐतिहासिक घटना है और यह देश की एकता और अखंडता को मजबूत करने में मदद करेगा। और आज 22 जनवरी 2024  के सोमवार को प्राण प्रतिष्ठा होने जा रह है | 

ram mandir pran pratishtha time

राम मंदिर का  प्राण प्रतिष्ठा टाइम दोपहर 12 बजकर  29 मिनट और 08 सेकंड से लेकर 12 बजकर 30 मिनट और 32 सेकंट के बीच में होगा जो कुछ होगा इन सेकंटो के बीच किया जायेगा 

Ram Mandir Murti

1. मूर्ति का निर्माण श्यामल रंग के श्याम शीला पत्थर से किया गया है। यह पत्थर कर्नाटक के चिकमंगलूर जिले के एक गांव से लाया गया था।

2. मूर्ति का निर्माण एक ही पत्थर से किया गया है, जिसका मतलब है कि इसमें अन्य पत्थर नहीं जोड़े गए हैं।

3. मूर्ति की ऊंचाई 51 इंच (130 सेंटीमीटर) और वजन 200 किलोग्राम है।

4. मूर्ति में भगवान विष्णु सहित उनके 10 अवतार मत्स्य, कूर्म, वराह, नरसिंह, वामन, परशुराम, राम, कृष्ण, बुद्ध और कल्कि के दर्शन भी मिलेंगे।

5. मूर्ति के मुकुट की साइड पर सूर्य भगवान, शंख, स्वस्तिक, चक्र और गदा नजर आ रहा है।

Ram Mandir Murti : रामलला मंदिर मूर्ति के 10 अद्भुत रहस्य जानिए

6. मूर्ति के बाएं हाथ को धनुष-बाण पकड़ने की मुद्रा में दिखाया गया है।

7. मूर्ति के दाहिने हाथ में आशीर्वाद देने की मुद्रा में है।

8. मूर्ति के निचले सतह पर एक ओर हनुमान जी और दूसरी ओर गरुड़ देव के दर्शन भी मिलेंगे।

9. मूर्ति को स्थापित करने के लिए गर्भगृह में एक विशेष प्रकार का कंक्रीट का इस्तेमाल किया गया है।

10. मूर्ति को स्थापित करने के लिए एक विशेष प्रकार की तकनीक का इस्तेमाल किया गया है।

What do you mean topic -

ayodhya , ram mandir ayodhya , Ayodhya Ram Mandir , ram mandir ,ram , jai shree ram photo , babri masjid , ram ji photo , ram photo , 22 january 2024 , ayodhya ram mandir photo ,ram mandir ayodhya ,photos ,shree ram , jai shri ram , ayodhya ram mandir location ,ram mandir photo ,jai shree ram in hindi ,shree ram photo ,pran pratishtha time ,shree ram images ,ram lalla ,ayodhya in which state ,pran pratishtha ,shri ram ,ram mandir pran pratishtha time 

Share this story