कोरोना महामारी से छुटकारा पाने के लिए ये मंत्र है बेहद असरदार, मार्कण्डेय पुराण में है वर्णित 

कोरोना महामारी से छुटकारा पाने के लिए ये मंत्र है बेहद असरदार, मार्कण्डेय पुराण में है वर्णित
Corona virus treatment by jyotish 

वर्तमान समय में कोरोना महामारी भारत में अपना विकराल रूप दिखा रहा है। हर रोज मौतों का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है। स्थिति ये है कि सड़क से लेकर शमशान तक लाशें बिछी पड़ी हैं। इस सब के बीच हर व्यक्ति जुबान पर ये बात आ रही है कि इस जानलेवा महामारी से किस प्रकार मुक्ति पाया जाए। कहते हैं कि जहां दवा काम नहीं करती वहां प्रार्थना का असर होता है। हमारे शास्त्रों में महामारी और रोग से मुक्ति पाने के लिए कुछ सिद्ध और असरकारी मंत्रो का जिक्र है। दरअसल दुर्गाशप्तशती के मंत्र मार्कण्डेय पुराण से लिया गया है। पंडितो का मानना है कि दुर्गाशप्तशती के ये मंत्र चमत्कारिक हैं। जिसका विधिपूर्वक जाप अथवा पाठ करने से महामारी और रोग सहित तमाम समस्याओं का समाधान मिल जाता है। आगे दुर्गाशप्तशती के कुछ सिद्ध और प्रभावी मंत्रों के बारे में जानते हैं।

पंडित धनंजय पांडेय ने बताया कि दुर्गाशप्तशती में आए मंत्र देवी दुर्गा को समर्पित है। इन सिद्ध और सम्पुट मंत्रों का सविधि जाप करने से मां दुर्गा प्रसन्न होकर मनोकामना पूर्ण करती हैं। साथ ही ये मंत्र अनेकों प्रकार के हैं अब ये भक्त पर निर्भर करता है कि वह कौन सी मनोकामना की पूर्ति चाहते हैं। इन मंत्रों का जाप 11, 21, 51 और 108 बार जाप करने से अभीष्ट कामना की पूर्ति सहजता से हो जाती है।

दुर्गासप्तशती के सिद्ध मंत्र Durga shaptsati ke siddh mantra

महामारी से मुक्ति के लिए

उपसर्गानशेषांस्तु महामारी समुद्भवान्।
तथा त्रिविधमुत्पातं महात्म्यं शमयेन्मम॥

पाप नाश के लिए मंत्र

पापनाशक मंत्र: हिनस्ति दैत्येजंसि स्वनेनापूर्य या जगत्। सा घण्टा पातु नो देवी पापेभ्यो नः सुतानिव॥

रोग नाश के लिए मंत्र

रोगानशेषानपहंसि तुष्टा रुष्टा तु कामान् सकलानभिष्टान्। त्वामाश्रितानां न विपन्नराणां त्वामाश्रिता ह्माश्रयतां प्रयान्ति॥

महामारी नाशक मंत्र: 

जयन्ती मड्गला काली भद्रकाली कपालिनी। दुर्गा क्षमा शिवा धात्री स्वाहा स्वधा नमो स्तुते॥

शक्ति प्राप्ति के लिये मंत्र

सृष्टि स्तिथि विनाशानां शक्तिभूते सनातनि। गुणाश्रेय गुणमये नारायणि नमो स्तुते॥

Share this story

Appkikhabar Banner29042021