जानिए ट्रेन, वायुमार्ग और सड़क मार्ग से कैसे पहुंचे अयोध्या? | How To Reach Ayodhya From Delhi

How To Reach Ayodhya From Delhi

How Long Is Vande Bharat From Delhi To Ayodhya?

Delhi To Ayodhya Distance

अयोध्या में घूमने की जगहें

Ram Mandir Ayodhya News: 22 जनवरी 2024 अयोध्या के लिए एक ऐतिहासिक दिन है। भगवान राम के मंदिर का निर्माण भारत देश के लिए एक लंबे समय से प्रतीक्षित सपना था और इसका उद्घाटन इतिहास के पन्नों में हमेशा के लिए दर्ज हो जायेगा। देश के कोने-कोने से लोगों में राम मंदिर को लेकर उत्साह और हर्ष देखने हो मिल रहा है। कई राज्यों से रामलला के लिए अनोखे और विशाल उपहार भी भेजे जा रहे हैं। हर कोई इस महत्वपूर्ण तिथि का पार्ट या साक्षी बनना चाहता है और जल्द से जल्द अयोध्या में भगवान राम के बाल रूप के दर्शन करने के लिए जाना चाहते हैं। गर आप भी अयोध्या में रामलला के दर्शन करने का प्लान बना रहे हैं तो आपके मन में भी ये सवाल आता होगा कि अयोध्या कैसे पहुचें, कहां रुकें, आस-पास के दर्शनीय स्थल आदि, तो आज हम आपके साथ इससे जुडी सारी जानकारी को साझा करेंगे। 

राम मंदिर का संक्षिप्त इतिहास 

राम मंदिर का संक्षिप्त इतिहास 

पहले हम आपको राम मंदिर और इसके महत्व का संक्षिप्त इतिहास बता दें। अयोध्या में राम जन्मभूमि से जुड़ा विवाद लगभग 1858 से शुरू हुआ। जिसका पहला मामला 1885 में दर्ज किया गया। 1989 में विश्व हिन्दू परिषद द्वारा रामजन्म भूमि का शिलान्यास करने के बाद विवाद एक बार फिर बढ़ गया। धीरे-धीरे राम मंदिर से जुड़ा ये मुद्दा राजनीतिक एजेंडा बन गया। साल 2019 में सुप्रीम कोर्ट का फैसला राम मंदिर के पक्ष में आने के बाद इस विवाद पर पूरी तरह से विराम लग गया। 5 अगस्त 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अयोध्या में रामलला मंदिर का शिलान्यास किया और 22 जनवरी 2024 को मंदिर में रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा की जायेगी। जिसके बाद से राम मंदिर के द्वार आम लोगों के लिए खुल जायेंगे। देश के कोने-कोने से लाखों की संख्या में श्रद्धालुओं के अयोध्या पहुंचने और भगवान राम के बाल स्वरुप के दर्शन करने की आशंका जताई जा रही है। 

How Long Is Vande Bharat From Delhi To Ayodhya?

दिल्ली से अयोध्या की यात्रा की योजना कैसे बनाएं?

इस आर्टिकल के द्वारा हम आपको अयोध्या यात्रा से जुडी सभी जानकारी को देने की कोशिश करेंगे। अयोध्या कैसे पहुंचने, कहां पर रुकें, कौन-कौन से आसपास के पर्यटन स्थल हैं जहां आप जा सकते हैं। आपको बता से कि सरकार अयोध्या की कनेक्टिवि को पूरे देश से जोड़ने के लिए प्रयासरत है तो आप देश के किसी भी कोने में रहे आप आसानी से अयोध्या धाम जा सकते हैं। इसके साथ ही अयोध्या के इंटरनेशनल एयरपोर्ट के द्वारा लोग देश-विदेश से आसानी से अयोध्या ट्रेवल कर सकेंगे। लेकिन आज हम आपको दिल्ली से अयोध्या जाने के लिए ट्रेन, बस एवं सड़क मार्ग के बारे में बताएंगे। 

रेल के द्वारा: अयोध्या जिले के प्रमुख रेलवे स्टेशन लगभग सभी प्रमुख शहरों और कस्बों से अच्छी तरह से जुड़े हुए हैं। ट्रेन द्वारा नई दिल्ली से अयोध्या तक की दूरी 615 कि. मी. है। वैसे तो दिल्ली से अयोध्या के लिए कई ट्रेन मौजूद हैं लेकिन अगर आप दिल्ली से अयोध्या ट्रैन से जाने की सोच रहे हैं तो इसमें सबसे अच्छा ऑप्शन है वंदेभारत ट्रैन। आप आनंद विहार से वंदेभारत ट्रैन के द्वारा 9 घंटे की जर्नी तय करके अयोध्या जा सकते हैं। आपको बता दें कि  रेल मार्ग से अयोध्या 128 कि.मी. दूर है। लखनऊ से 171 कि.मी. गोरखपुर से 157 कि.मी. इलाहाबाद से और वाराणसी से 196 कि.मी. दूर है। रेल मार्ग से अयोध्या 135 कि.मी. दूर है। लखनऊ से 164 कि.मी. गोरखपुर से 164 कि.मी. प्रयागराज से और वाराणसी से 189 कि.मी. दूर है। 

सड़क मार्ग से: दिल्ली से अयोध्या की दूरी आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे से 688.5 किलोमीटर है। आप अपने बजट और समय के अनुसार कार या बस से अयोध्या धाम पहुंच सकते हैं। उत्तर प्रदेश परिवहन की सेवा भी 24 घंटे उपलब्ध है और सभी बड़े स्थानों से यहाँ आसानी से पहुंचा जा सकता है। 
दिल्ली से अयोध्या के लिए AC, NON AC, स्लीपर, सेमी स्लीपर जैसी बस सर्विस लगभग 24 घंटे उपलब्ध हैं। इसके साथ में 

वायुयान द्वारा: लखनऊ अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा अयोध्या से निकटतम हवाई अड्डा है। इसके अलावा गोरखपुर, प्रयागराज और वाराणसी हवाई अड्डे से भी यहाँ पंहुचा जा सकता है| अयोध्या में महर्षि वाल्मिकी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा जिसका 30 दिसंबर 2023 को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा उद्घाटन किया गया था। इस हवाई अड्डे से भी जल्द ही नियमित उड़ान संचालन शुरू होने की उम्मीद है। वर्तमान में दिल्ली से और दिल्ली के लिए केवल एक इंडिगो की फ्लाइट है उपलब्ध है। 

अयोध्या में घूमने वाले स्थान

अयोध्या में घूमने वाले स्थान

अयोध्या के धार्मिक और ऐतिहासिक महत्व को देखते हुए उत्तर प्रदेश पर्यटन ने इसे धार्मिक पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करना प्रारंभ कर दिया है। राम की नगरी अयोध्या में सैकड़ों अन्य धार्मिक स्थल भी मौजूद है जहाँ आप इलेक्ट्रिक बस, ऑटो एवं ई-रिक्शा लेकर जा सकते हैं। अयोध्या में रामलला मंदिर और हनुमान गढ़ी के अलावा आप कनक भवन, नया घाट, तुलसी स्मारक भवन, सरयू घाट, दशरथ भवन, तुलसी उद्यान, श्री नागेश्वर नाथ मंदिर, श्री राम वल्लभ कुंज जानकी घाट, नागेश्वरनाथ मंदिर, केलेनाथ मंदिर, दशरथ महल, मणि पर्वत मंदिर, राजद्वार मंदिर , रामकोट, त्रेता के ठाकुर, छोटी देवकाली मंदिर, राम की पैड़ी, गुलाब बाड़ी, नंदीग्राम (जहां भारत की गुफा और भगवन राम की खड़ाऊं देखने को मिलेगी, ये वो जगह है जहां हनुमान जी गिरे थे।), दसरथ की समाधि ( कहा जाता है ये वो जगह है जहां राजा दसरथ की समाधि है और उनके सश्त्र आज भी मौजूद हैं) ऐसी और भी तमाम जगहें हैं जहां आप घूमने जा सकते हैं।

अयोध्या में रुकने के लिए धर्मशाला 

वैसे तो अयोध्या में सस्ते से लेकर महंगे लग्जरी कई सारे होटल मौजूद हैं, लेकिन आज के समय में अगर आप अयोध्या घूमने के लिए जाते हैं तो वहां आपको में कई धर्मशालाएं एवं होटल आसानी से आपके बजट के अनुरूप मिल जायेंगे। आप अपने अपने बजट अनुसार वहां पर होटल ले सकते हैं। आप उत्तर प्रदेश पर्यटन की वेबसाइट https://uptourism.gov.in  पर जाकर मंदिर और स्टेशन के पास के होटल और धर्मशाला के साथ अन्य जानकारी भी देख सकते हैं। 

Share this story