इंदौर में सिरफिरे आशिक ने दिया अग्निकांड को अंजाम, 7 की हुई थी मौत

इंदौर में सिरफिरे आशिक ने दिया अग्निकांड  को अंजाम, 7 की हुई थी मौत
इंदौर में सिरफिरे आशिक ने दिया अग्निकांड  को अंजाम, 7 की हुई थी मौत इंदौर, 8 मई (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश की व्यापारिक नगरी इंदौर के स्वर्ण बाग कॉलोनी में हुए अग्निकांड का आरोपी सामने आया है और उसकी पहचान संजय उर्फ शुभम दीक्षित के तौर पर हुई है जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उसने इस अग्निकांड को अंजाम देने की बात कबूल की है और कहा है कि वह एक युवती से प्रेम करता था और उसी के चलते उसने यह कारनामा किया।

शुभम का जो कबूलनामा सामने आ रहा है उसमें वह कह रहा है कि उसका स्वर्ण बाग कॉलोनी की इमारत में रहने वाली लड़की से कथित तौर पर प्रेम प्रसंग था और उससे विवाद चल रहा था। इसी विवाद के चलते उसने कार में आग लगाई। पुलिस से बचने के फेर में उसके हाथ पैर की हड्डियां भी टूट गई।

आरोपी ने स्वीकार किया है कि वह एक लड़की से बहुत परेशान हो गया था। उसने मेरे साथ बहुत गलत किया, उसने मुझसे खूब खर्चा करवाया, मैंने उसे खर्च के लिए दिए पैसे कभी वापस नहीं मांगे। वह हमेशा किसी ना किसी बात के लिए पैसे मांगती थी। इतना परेशान था कि उसकी गाड़ी की सीट जलाना चाहता था।

पुलिस के अनुसार, शनिवार की देर रात पुलिस को आरोपी के संबंध में जानकारी मिली और उसे स्कीम नंबर 74 के करीब से गिरफ्तार कर लिया। घटना का फुटेज मिलने के बाद साफ हो गया कि किसी सफेद शर्ट वाले युवक ने गाड़ियों में आग लगाई है। पुलिस ने उस इलाके की रहने वाली युवती से पूछताछ की जिससे एकतरफा प्रेम का राज खुल गया और पूरा घटनाक्रम साफ हो गया।

घटना शुक्रवार-शनिवार की रात को हुई थी, जब इंदौर के स्वर्ण बाग कॉलोनी के एक दो मंजिला मकान में आग लग जाने से सात लोगों की झुलस कर और दम घुटने से मौत हो गई। हादसा तब हुआ जब लोग गहरी नींद में थे। आग ने धीरे-धीरे विकराल रूप लिया और पूरा मकान आग की लपटों में घिर गया। किसी तरह लोगों ने मकान के अलग-अलग हिस्सों से कूद कर अपनी जान बचाने की कोशिश की।

--र्आएएनएस

एसएनपी/एसकेपी

Share this story