मिस्र में 3,300 साल पुराने ग्रेनाइट ताबूत का अनावरण

मिस्र में 3,300 साल पुराने ग्रेनाइट ताबूत का अनावरण
मिस्र में 3,300 साल पुराने ग्रेनाइट ताबूत का अनावरण काहिरा, 20 सितंबर (आईएएनएस)। मिस्र ने लगभग 3,300 साल पहले 19वें राजवंश में राजा रामेसेस द्वितीय के अधीन एक उच्च पदस्थ अधिकारी के ग्रेनाइट सरकोफैगस का सोमवार को अनावरण किया।

समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने सुप्रीम काउंसिल ऑफ एंटिक्विटीज के महासचिव मुस्तफा वजीरी के हवाले से कहा, मिस्र के काहिरा के दक्षिण में सक्कारा पुरातात्विक स्थल पर एक लाल सरकोफैगस की खोज की गई।

उन्होंने कहा, पट्टा-एम-उया का मकबरा पिछले साल मिला था।

वजीरी ने कहा कि मिस्र की टीम रईस के मकबरे में प्रवेश करने में कामयाब रही और पाया कि वहां भगवान होरस के पुत्रों का प्रतिनिधित्व करने वाले ²श्य हैं।

ताबूत की प्रारंभिक जांच से पता चला है कि प्राचीन काल में इसे तोड़ा और लूटा गया था।

रामेसेस 2, जिसे आमतौर पर रामेसेस द ग्रेट के नाम से जाना जाता है, मिस्र के 19वें राजवंश का तीसरा फिरौन (प्राचीन मिस्त्र के राजाओं की जाति या धर्म या वर्ग संबंधी नाम) था।

उन्हें अक्सर नए साम्राज्य का सबसे महान, सबसे प्रसिद्ध और सबसे शक्तिशाली फिरौन माना जाता है, जो कि प्राचीन मिस्त्र का सबसे शक्तिशाली काल है।

--आईएएनएस

पीके/एसजीके

Share this story