Euro kids international लेकर आया pre school online classes

Euro kids international
Euro kids International online classes सारे साइंटिफिक स्टडी बताते हैं कि एक बच्चे का पहले 5 साल बहुत ही इंपॉर्टेंट होते हैं जो कि उसके दिमाग के डेवलपमेंट के लिए बहुत ही आवश्यक होते हैं और इस समय बच्चा जो सीखता है वह उसके सोशल और इमोशनल स्किल को बढ़ाते हैं

  हावर्ड यूनिवर्सिटी में एक इस रिसर्च के अनुसार यह बताया गया है कि इमोशनल और फिजिकल सोशल स्किल और जो बोलने की कैपेसिटी है अगर बच्चों को शुरुआती दौर में पहले 5 सालों में ही सिखाया जाए तो वह बच्चों के सक्सेस के लिए बहुत ही काम करता है
. यूनिसेफ द्वारा भी बताया गया है कि बच्चों के शुरुआती दौर में अर्ली चाइल्ड केयर और एजुकेशन जो दिए जाते हैं और बहुत ही काम करते हैं और बच्चों की न्यू इससे पढ़ाई में मजबूत होती है और इसके लिए सबके लिए शिक्षा एजुकेशन फॉर ऑल यह सलूशन जो दिया गया था यह बहुत ही मजबूत फाउंडेशन का काम करता है और देश के लिए इकोनामिक ग्रोथ और डेवलपमेंट के लिए भी काफी अच्छा काम करता है.
जरूरी हो जाता है कि बच्चों केपी स्कूल लर्निंग पर काफी ध्यान दिया जाए जिससे उनके बिहेवियर में काफी चेंज हो जाते हैं और अगर प्री स्कूल पर बहुत ध्यान नहीं दिया जाता है उनकी पढ़ाई लिखाई अगर शुरुआती दौर में सही नहीं हो पाती है तो वह आगे चलकर कई सारे गलत कामों में इंवॉल्व हो जाते हैं

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि कोविड-19 महामारी के दौरान श्री स्कूल मार्च 2020 सही बंद चल रहे हैं और 2 से ढाई साल के बच्चों के लिए जो प्री स्कूल रहता था वह अभी आने वाले समय में लगभग 1 साल तक और भी बंद होने की उम्मीद है ऐसे में जो सबसे बड़ी समस्या आ रही थी कि बच्चों के पैरंट्स काफी परेशान थे कि अपने बच्चों को फ्री स्कूल की लर्निंग कैसे कराई जाए तो इसको लेकर
इस बारे में यूरोकिड्स इंटरनेशनल के द्वारा एक सर्वे कराया गया जिसमें पाया गया कि 95% पेरेंट्स ने ऑनलाइन फॉर्म स्कूलिंग के लिए रजिस्ट्रेशन कराया जिससे बच्चों की पढ़ाई कंटिन्यू हो सके पैरंट्स ने पाया कि ऑनलाइन लर्निंग एक ऐसा चोर है जिससे बच्चों को शुरुआती दौर से ही सिखाया जा सकता है

Mr. K. V. S. Seshasai, सी ई ओ ने कहा कि बच्चों के लिए शुरुआती दौर में स्कूल बंद रहना और कोविड-19 पेपर उनके कैरियर पर दिखता यह उनके पढ़ाई में काफी बाधा उत्पन्न कर सकता है ऑनलाइन एजुकेशन फ्री स्कूल में बच्चों को जहां बेसिक स्कूल सिखाई जाती है वहीं कई सारे ऐसे सोशल और इमोशनल स्किल्स भी सिखाई जाती है मोटर स्कूल सिखाई जाती लैंग्वेज के बारे में बताया जाता है नंबर के बारे में सिखाया जाता है और चीजों को समझने के लिए एनालिटिकल स्किल जो साइंटिफिक मेथड के द्वारा बच्चों को इस तरीके से सिखाया जाता है जिससे बच्चे पढ़ाई के साथ में उसको इंजॉय भी कर सके। इस बारे में जब एक सर्वे किया गया और बच्चों के पेरेंट्स से पूछा गया कि बच्चों ने क्या सीखा ऑनलाइन एजुकेशन के द्वारा तो बच्चों के पेरेंट्स में काफी खुशी व्यक्ति की और कहा कि बच्चे उनके फ्री एकेडमिक स्किल्स जैसे कलर को पहचानना जो नाम प्रिंट किए गए हैं उसके बारे में बताना अल्फाबेट नंबर्स इन सब के बारे में बच्चों ने प्री स्कूल स्किल के बारे में ऑनलाइन फ्री स्कूल के द्वारा सीखा .
इसके बारे में ज्यादा जानने के लिए यूरोकिड्स इंटरनेशनल की वेबसाइट पर जाकर आप जानकारी प्राप्त कर सकते हैं और वहां से अपना रजिस्ट्रेशन भी करा सकते हैं जिससे आपके बच्चों का जो इस समय कोविड-19 pandemic के दौरान जो स्कूल बंद चल रहे हैं तो इससे उसकी पढ़ाई में कहीं से कोई भी बाधा ना उत्पन्न हो।
यह भी पढ़ें Pre-schools are key to bridge toddlers learning gap during the pandemic

जानिए क्या है pre school format

EuroKids International offers an online pre-school format where educators help toddlers learn language, number concepts through short live, and pre-recorded video sessions that are engaging and ensure there is ‘joy in learning.’
As the development of a young child’s brain affects his or her physical and mental health, the capacity to learn and impact his or her behaviour throughout childhood and adult life, the impetus for laying the groundwork for tomorrow’s citizens lies with the early childhood education sector.
For more information on online pre-school enrollment, please call: 1-800-2095656 or visit: https://eurokidsindia.com/enrollment/
For more information on EuroKids International’s curriculum, please visit: https://eurokidsindia.com/#eunoia-curriculum

Share this story