मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के 4 साल बेमिसाल जानिए क्या कुछ पाया प्रदेश ने 

 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 4 साल बेमिसाल के अवसर पर पुस्तिका का विमोचन और प्रेस कांफ्रेंस किया 

 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने  कहा कि  उ.प्र. में कोरोना प्रबंधन बेहतरीन रहा है। वैश्विक संगठन WHOने भी इसकी प्रशंसा की है। 2016-17 से 2020-21 के बीच प्रदेश में 30 नए मेडिकल कॉलेजों की स्थापना हो रही है। दो नए AIIMS गोरखपुर एवं रायबरेली में संचालित हो चुके हैंउ.प्र. में कोरोना प्रबंधन बेहतरीन रहा है। वैश्विक संगठन WHOने भी इसकी प्रशंसा की है। 2016-17 से 2020-21 के बीच प्रदेश में 30 नए मेडिकल कॉलेजों की स्थापना हो रही है। दो नए AIIMS गोरखपुर एवं रायबरेली में संचालित हो चुके हैं| 

अकेले बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में पिछले 04 वर्षों के दौरान 54 लाख से अधिक बच्चों ने प्रवेश लिया है। ऑपरेशन कायाकल्प के माध्यम से सवा लाख से अधिक विद्यालयों में बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैंअकेले बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में पिछले 04 वर्षों के दौरान 54 लाख से अधिक बच्चों ने प्रवेश लिया है। ऑपरेशन कायाकल्प के माध्यम से सवा लाख से अधिक विद्यालयों में बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं| 

ई-पॉस मशीन और नेशनल पोर्टेबिलिटी तकनीक का प्रयोग कर प्रदेश ने ₹1,200 करोड़ के राजस्व की सालाना बचत भी की है। प्रदेश में 80 लाख स्ट्रीट लाइट्स को एलईडी स्ट्रीट लाइट्स में बदलने का काम हुआ हैई-पॉस मशीन और नेशनल पोर्टेबिलिटी तकनीक का प्रयोग कर प्रदेश ने ₹1,200 करोड़ के राजस्व की सालाना बचत भी की है। प्रदेश में 80 लाख स्ट्रीट लाइट्स को एलईडी स्ट्रीट लाइट्स में बदलने का काम हुआ है| 

 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने  कहा कि उत्तर प्रदेश में पहला जलमार्ग हल्दिया से वाराणसी के बीच बनकर तैयार हुआ है। कोरोना काल में हमने इसका उपयोग प्रदेश से खाद्यान्न, फल-सब्जी को एक्सपोर्ट करने में किया थाउत्तर प्रदेश में पहला जलमार्ग हल्दिया से वाराणसी के बीच बनकर तैयार हुआ है। कोरोना काल में हमने इसका उपयोग प्रदेश से खाद्यान्न, फल-सब्जी को एक्सपोर्ट करने में किया था| 

प्रयागराज कुम्भ ने व्यवस्था, सुरक्षा व स्वच्छता का नया मानक वैश्विक मंच पर रखा था। इसके प्रधानमंत्री narendramodi  की सोच थी व उनका मार्गदर्शन भी हमें प्राप्त हुआ:प्रयागराज कुम्भ ने व्यवस्था, सुरक्षा व स्वच्छता का नया मानक वैश्विक मंच पर रखा था। इसके पीछे आदरणीय प्रधानमंत्री narendramodi की सोच थी व उनका मार्गदर्शन भी हमें प्राप्त हुआ| 

UP_ODOPयोजना का परिणाम रहा कि प्रदेश के अंदर 50 लाख से अधिक MSME यूनिटों की स्थापना हुई। ₹2,13,000 करोड़ से अधिक के ऋण बैंकों से उपलब्ध कराने में मदद मिली व 1.80 करोड़ से अधिक रोजगार का सृजन हुआ UP_ODOP योजना का परिणाम रहा कि प्रदेश के अंदर 50 लाख से अधिक MSME यूनिटों की स्थापना हुई। ₹2,13,000 करोड़ से अधिक के ऋण बैंकों से उपलब्ध कराने में मदद मिली व 1.80 करोड़ से अधिक रोजगार का सृजन हुआ| 

Share this story