ज्येष्ठ माह बड़ा मंगल को अयोध्या में बजरंगबली को लगा केले का भोग 

hanuman ji

 ज्येष्ठ माह के प्रथम मंगल पर बजरंगबली के प्रति उमड़ा अनुराग

-लाकडाउन खुलने से भक्तों को मिली 
 सुविधा

 आर एल पाण्डेय
 अयोध्या :  राम नगरी में श्रद्धालुओं के लिए सुखद संयोग था कि एक माह का लाकडाउन थमते ही ज्येष्ठ मास का प्रथम मंगलवार पड़ा। बजरंगबली के भक्तों को इस विशेष अवसर पर आस्था अर्पित करने का मौका मिला। बजरंगबली की प्रधानतम पीठ हनुमानगढ़ी में दूरदराज से श्रद्धालु दर्शन करने आए थे और उनके चेहरे से विशेष अवसर पर दर्शन करने का संतोष भी बयां हो रहा था। ...

तो बजरंगबली के पौराणिक महत्व की एक अन्य पीठ नाका हनुमानगढ़ी में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ने के साथ हनुमानजी का विशेष श्रृंगार एवं पूजन किया गया। पीठाधिपति महंत रामदास ने श्रृंगार-पूजन के साथ कोरोना से बचाव की व्यवस्था का भी संयोजन किया। यद्यपि दर्शनार्थियों के आगमन का सिलसिला सुबह से देर शाम तक चला, पर मंदिर में पांच-पांच की ही संख्या में श्रद्धालुओं को प्रवेश दिया गया, वह भी शारीरिक दूरी सुनिश्चित कराने के साथ। व्यवस्था से लेकर पूजन तक में पुजारी रामनेवाजदास, पुजारी अजय तिवारी, प्रवेशकुमार शुक्ल, अनिल पांडेय, अमित दुबे, गणेश मिश्र आदि सहयोगी रहे।

लड्डू की जगह केले का लगा भोग-

हनुमान जी को यूं तो गाय के घी में बना बेसन का लड्डू प्रिय है, किंतु संक्रमण की आशंका से इस बार घी के लड्डू के बजाय हनुमान जी को केले का भोग लगाया गया। नाका हनुमानगढ़ी के महंत रामदास के अनुसार हनुमान जी वानरानामधीशम है और उन्हें लड्डू के अलावा फल भी बहुत प्रिय है। ऐसे में विकल्प के तौर पर उन्हें केला का भोग लगा दिया!

Share this story