साइवर अपराधियों पर हुई बड़ी कार्यवाही, साइबर सेल ने 14 लाख कराये वापस

Crime news

 पीड़ितो ने पुलिस को दिया धन्यवाद

(राजेन्द्र कश्यप)
गोण्डा। जैसा कि विदित है कि वर्तमान समय में साइबर अपराधियों द्वारा लाटरी, ऑनलाइन केवाईसी, सस्ते दामों पर गाड़ी खरीदने/बेचने, टावर लगवाने, बोनस पॉइंट देने, क्रेडिट लिमिट बढवाने, CSP अलोटमेंट, पैसे रिफंड करवाने, रिमोट एक्सेस एप डाउनलोड, सस्ते दामों पर इलेक्ट्रोनिक सामान खरीदने इत्यादि के प्रलोभन देकर साइबर अपराध कारित किया जा रहा है। अज्ञानता व प्रलोभन में आकर आये दिन आमजनमानस ठगी का शिकार होकर अपनी जमापूँजी गँवा रहे हैं।

सायबर ठगी के शिकार होने पर क्या करें ?

ऐसे में पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार मिश्रा ने साइबर अपराध के मामलो को अत्यंत गंभीरता से लेते हुए साइबर सेल गोण्डा को ऐसे सभी मामलों में त्वरित कार्यवाही कर पीड़ितों को न्याय दिलाने व उनसे ठगी गयी राशि को तत्काल वापस कराने के लिए सख्त कदम उठाया एवं नोडल अधिकारी अपर पुलिस अधीक्षक शिवराज के पर्यवेक्षण में साइबर सेल की टीम प्रभारी निरीक्षक संतोष कुमार तिवारी, आरक्षी हरिओम टंडन, महिला आरक्षी अचला,शशि गोस्वामी ने अपना काम तत्परता के साथ करना शुरू किया जिसके फल स्वरुप ऑनलाइन के माध्यम से ठगी गयी धनराशि रु 14,70,285/-को पेमेंट गेटवे/सम्बंधित बैंक (intermediary) से संपर्क एवं पत्राचार कर पीड़ितो के खाते में वापस कराया। ठगी गयी धनराशि वापस होने पर आवेदकों द्वारा गोण्डा पुलिस को हृदय से धन्यवाद किया गया है। वही पुलिस अधीक्षक ने जनपद वासियों को संदेश दिया कि साइबर ठगी से बचने हेतु ऑनलाइन ट्रांजेक्सन करते समय पैसे फंस जाने पर कभी भी कंपनी का कस्टमर केयर नंबर गूगल से सर्च न करें, सम्बंधित कंपनी के एप में ही कांटेक्ट नंबर होता है वही से सम्पर्क करें.

गूगल सर्च न करे नंबर 

एवं अपने बैंक को तत्काल इसकी सूचना दें। किसी भी अंजान व्यक्ति के फोन कॉल पर कभी भी बैक डिटेल, एटीएम डिटेल शेयर न करें प्रलोभन में आकर अनावश्यक रूप से किसी भी लिंक को न खोलें आपके मैसेज बॉक्स में आये किसी सन्देश/OTP को किसी अन्य को शेयर न करें। बैंक/UPI कभी भी आपसे आपके खाते की डिटेल कॉल पर नहीं मांगता है। बैंक खाते की KYC बैंक जा कर ही अपडेट कराएँ, OLX या किसी अन्य एप से गाड़ी, मोबाइल या कुछ अन्य खरीदारी के लिए एडवांस पेमेंट कभी न करें, सामान मिलने के बाद ही पेमेंट करें। व्हाट्सएप, फेसबुक पर 2 STEP वेरिफिकेशन प्राइवेसी ऑन रखें।* अपनी निजी तस्वीर वीडियो शेयर करने से बचें, अपना आधार/पैन किसी अज्ञात व्यक्ति को न सौपें, न ही किसी ऑफर के लालच में कहीं पर अंगूठा लगायें। साइबर अपराध का शिकार होने पर तत्काल भारत सरकार/साइबर मुख्यालय द्वारा जारी नंबर 155260, साइबर अपराध रिपोर्टिंग पोर्टल https://cybercrime.gov.in, अपने बैंक एवं नजदीकी पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराएँ।


साइबर सेल गोण्डा ने इन लोगों के खातों में पैसा कराया वापस --

आवेदक डॉ ए०पी० सिंह द्वारा खाते की KYC अपडेट कराने के नाम पर सम्पूर्ण बैंक डिटेल पूछ कर एनी डेस्क एप इनस्टॉल करवा कर खाते से बड़ी रकम की ठगी की शिकायत पर पेमेंट गेटवे बैंक (intermediary) से संपर्क/पत्राचार कर 3,49,995/- रुपये खाते में वापस करायी गयी एवं कोतवाली नगर में अभियोग पंजीकृत कराया गया जिसकी विवेचना प्रचलित है, आवेदक मनोज कुमार गुप्ता व्यापार से सम्बंधित फ्रॉड खाते में ट्रांसफर की गयी 3,01,700/- रुपये की वापसी करायी गयी , आवेदक राजेश कुमार पुत्र दयाशंकर दुबे निवासी तरबगंज द्वारा ट्रांजेक्शन फेल होने पर गूगल पर उपलब्ध कस्टमर केयर नम्बर सर्च कर ठगी का शिकार होने सम्बन्धी प्रर्थना पत्र दिया था जिस पर साइबर सेल द्वारा तत्काल कार्यवाही करते हुए ठगी गयी धनराशि रु० 1,17,430/- की वापसी करायी गयी, आवेदक अतुल कुमार दुबे को फ्रॉड कॉल पर कलेक्ट रिक्वेस्ट प्राप्त होने के फलस्वरूप खाते से कटौती की गयी 98,000/- की धनराशि वापस करायी गयी, आवेदक प्रेम चन्द्र द्वारा OLX पर बाइक खरीदने के नाम पर लिक accept करने से 80,000/- रुपये की ठगी की शिकायत पर सम्पूर्ण धन वापसी करायी गयी, आवेदक राघवेन्द्र कुमार पुत्र रतन कुमार द्वारा लाटरी के इनाम के लालच में UPI से फ्रॉड व्यक्ति को धनराशि पेमेंट कर दी गयी थी जिस पर कार्यवाही करते हुए 80,000/- रुपये की वापसी करायी गयी, आवेदक मनोज कुमार के गूगल पे एवं मर्चेट गेटवे में तकनीकी रूप से अवैध कटौती की गयी 77,900/- रुपये की वापसी कराई गयी, आवेदक नितेश मिश्र द्वारा फ्रॉड कॉल पर रिफंड हेतु UPI के माध्यम से खाते से 55,000/- रुपये की ठगी की शिकायत पर सम्पूर्ण धनराशि की वापसी करायी गयी एवं कोतवाली नगर में अभियोग पंजीकृत कराकर विवेचना प्रचलित है, आवेदक अजीत कुमार साहू द्वारा सेना का जवान बता कर UPI के माध्यम से पेमेंट रिक्वेस्ट के द्वारा 40,000/- रुपये की ठगी कर लिए जाने सम्बंधी शिकायत पर सम्पूर्ण धनराशि वापस करायी गयी, आवेदक राम मनोहर शुक्ल द्वारा फ्रॉड कॉल पर बैंक अधिकारी बता कर क्रेडिट कार्ड की डिटेल व OTP साझा किये जाने से ठगी गयी सम्पूर्ण 28,280/- रुपये की धनराशि की वापसी करवाई गयी, आवेदक नन्द किशोर भारती द्वारा google पर गूगल पे का कस्टमर केयर नम्बर सर्च कर OTP और बैंक डिटेल साझा किये जाने से खाते से ठगी के 25,000/- रुपये, की धनराशि की वापसी करवाई गयी, आवेदक संजीव कुमार नायक द्वारा बोनस प्राप्त करने के नाम पर बैंक डिटेल व OTP साझा कर दिए जाने के कारण ठगी के 24,240/- रुपये की धनराशि की वापसी करवाई गयी, आवेदक शरद कुलश्रेष्ठ को फ्रॉड कॉल पर एनी डेस्क एप इनस्टॉल करवा कर शोपिंग की गयी 18,999/- रुपये की ठगी गयी धनराशि की वापसी की गयी, आवेदक सुरेन्द्र कुमार सिंह द्वारा google पर गूगल पे का कस्टमर केयर नम्बर सर्च कर OTP और बैंक डिटेल साझा किये जाने से खाते से ठगी के 17,950/- रुपये की धनराशि की वापसी करवाई गयी, आवेदक अम्बिकेश्वर प्रताप पाण्डेय के अमेज़न पे पर पेमेंट करते समय गलत खाते में ट्रान्सफर हुए 15,000/- रुपये की वापसी करायी गयी, आवेदिका प्रीती जयसवाल के खाते की KYC अपडेट कराने के नाम पर सम्पूर्ण बैंक डिटेल पूछ कर ठगी गयी 14,000/- रुपये की धनराशि की वापसी करायी गयी, आवेदक विद्याराम यादव के एटीएम की OTP पूछ कर ठगी गयी धनराशि 5,000/- रुपये की वापसी करायी गयी, आवेदक पलक सिंह को paytm kyc ने नाम पर अज्ञात लिक खोलने पर खाते से ठगी के 4,297/- रुपये की वापसी करायी गयी।
19. आवेदक रोबी गांगुली के हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट रजिस्टर करते समय सर्वर क्रैश होने से ठगी हुई धनराशि 1734/- की वापसी करायी गयी, आवेदिका नंदिता सिंह के खाते से UPI के माध्यम से ठगी गयीं 1,700/- रुपये की वापसी करायी गयी, आवेदक कमल किशोर के UPI पेमेंट करते समय गलत खाते में ट्रान्सफर हुए 1,500/- रुपये की वापसी करायी गयी, आवेदक राहुल चौहान को फ्रॉड कॉल पर ठगे गये 1500/- की धनराशि वापस करायी गयी,आवेदक विनय कुमार थाना को0नगर जनपद गोण्डा के ठगे गये 1,11060/- की धनराशी वापस करायी गयी।

Share this story