सार्वजनिक स्थलों पर भीड़ एकत्र न होने देने के लिए पुलिस को आवश्यक कदम उठाने के निर्देश

 होली सहित अन्य पर्वों व त्योहारों, पंचायत निर्वाचन तथा देश के विभिन्न राज्यों
में कोरोना संक्रमण की 
वृद्धि को देखते हुए अतिरिक्त सावधानी बरती जाए

ग्रामीण तथा शहरी क्षेत्रों में निगरानी समितियों के माध्यम से बाहर से आने वाले लोगों की जानकारी एकत्र की जाए,
इससे संक्रमित पाए गए ऐसे लोगों को क्वारंटीन करते हुए उनके उपचार की समुचित व्यवस्था करने में मदद मिलेगी

 
मुख्यमंत्री ने कोविड-19 के दृष्टिगत प्रदेश में विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए
कोविड-19 से बचाव व उपचार की प्रभावी व्यवस्था बनाए रखें: मुख्यमंत्री
कोविड चिकित्सालयों में सभी आवश्यक सुविधाएं सुनिश्चित की जाएं
​​​​​​​जनपद स्तर पर इन्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर को पूरी तरह क्रियाशील रखा जाए
कोविड-19 से बचाव के सम्बन्ध में लोगों को निरन्तर जागरूक किया जाए
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कोविड-19 के दृष्टिगत प्रदेश में विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि होली सहित अन्य पर्वों व त्योहारों, पंचायत निर्वाचन तथा देश के विभिन्न राज्यों में कोरोना संक्रमण की वृद्धि को देखते हुए अतिरिक्त सावधानी बरती जाए। उन्होंने कोविड-19 से बचाव व उपचार की प्रभावी व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश भी दिए हैं।
मुख्यमंत्री जी आज यहां अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलाॅक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कोविड चिकित्सालयों में सभी आवश्यक सुविधाएं सुनिश्चित की जाएं। इन अस्पतालों में पर्याप्त संख्या में चिकित्सा कर्मी, औषधि, मेडिकल उपकरण तथा बैकअप सहित आॅक्सीजन का समुचित प्रबन्ध हर स्थिति में उपलब्ध रहे।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोविड हेल्प डेस्क की व्यवस्था को सुचारु ढंग से संचालित किया जाए। इन्फ्रारेड थर्मामीटर तथा पल्स आॅक्सीमीटर का उपयोग करते हुए लक्षणयुक्त व्यक्तियों को चिन्हित किया जाए। बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन तथा हवाई अड्डों पर यात्रियों की सघन कोविड जांच की जाए। संक्रमित पाए जाने पर ऐसे व्यक्तियों के लिए क्वारंटीन की व्यवस्था करते हुए इनके इलाज का प्रबन्ध किया जाए।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रतिदिन 1.50 लाख से अधिक कोविड-19 की टेस्टिंग की जाए। उन्होंने काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग को पूरी सक्रियता से संचालित करने के निर्देश देते हुए कहा कि कोरोना पाॅजिटिव व्यक्ति के अधिक से अधिक काॅन्टैक्ट्स को चिन्हित करते हुए ऐसे लोगों की जांच कराई जाए।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि ग्रामीण तथा शहरी क्षेत्रों में निगरानी समितियों के माध्यम से बाहर से आने वाले लोगों की जानकारी एकत्र की जाए। इससे संक्रमित पाए गए ऐसे लोगों को क्वारंटीन करते हुए उनके उपचार की समुचित व्यवस्था करने में मदद मिलेगी।
मुख्यमंत्री जी ने निर्देशित किया कि जनपद स्तर पर इन्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर को पूरी तरह क्रियाशील रखा जाए। उन्होंने कहा कि सभी जिलाधिकारी तथा मुख्य चिकित्सा अधिकारी प्रतिदिन सुबह कोविड चिकित्सालय में तथा शाम को इन्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर में बैठक करें।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोविड-19 से बचाव के सम्बन्ध में लोगों को निरन्तर जागरूक किया जाए। इसके लिए विभिन्न प्रचार माध्यमों के साथ-साथ पब्लिक एड्रेस सिस्टम का व्यापक उपयोग किया जाए। लोगों को मास्क के अनिवार्य उपयोग तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के सम्बन्ध में जानकारी दी जाए। उन्होंने सार्वजनिक स्थलों पर भीड़ एकत्र न होने देने के लिए पुलिस को आवश्यक कदम उठाने के निर्देश भी दिए।
बैठक में स्वास्थ्य मंत्री श्री जय प्रताप सिंह, स्वास्थ्य राज्य मंत्री श्री अतुल गर्ग, मुख्य सचिव श्री आर0के0 तिवारी, कृषि उत्पादन आयुक्त श्री आलोक सिन्हा, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त श्री संजीव मित्तल, अपर मुख्य सचिव गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक श्री हितेश सी0 अवस्थी, अपर मुख्य सचिव राजस्व श्रीमती रेणुका कुमार, अपर मुख्य सचिव एम0एस0एम0ई0 एवं सूचना श्री नवनीत सहगल, प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा श्री आलोक कुमार, सचिव मुख्यमंत्री श्री आलोक कुमार, सूचना निदेशक श्री शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Share this story