कोविड से लड़ाई, बिना तैयारी के ही सरकारी फरमान को पूरा करने की मुहिम 

Gonda covid news
Gonda Covid News  गांव में विशेष कोविड-19 अभियान हुआ शुरु, बिना हथियार मैदान में आशा कार्यकत्रियों 

-- मुख्यमंत्री के दिशा निर्देशों को मात्र खानापूर्ति बना रहे जिम्मेदार अधिकारी /कर्मचारी 

-- ग्रामीण क्षेत्रों में जांच करने वाली आशाओं को नहीं दिया गया सुरक्षा कवच संसाधन व जांच करने का संयंत्र कैसे सफल होगा को भी टेस्ट इन अभियान 

--- इंफ्रारेड थर्मामीटर ,पल्स ऑक्सीमीटर की बात कौन करे विभाग ने नहीं दिया किसी को  माक्स, दस्ताने व सैनिटाइजर 

गोण्डा । कोरोना संक्रमण को बढ़ते देख जिला प्रशासन मुख्यमंत्री के दिशा निर्देश पर कोविड की जांच तेज करने की कवायद में जुट गया है। अभी तक कोविड-19 लक्षण वाले व्यक्तियों की सीचएची और जिला अस्पताल में  जांच की जा रही है थी। पर अब कोविड-19 से गांव को सुरक्षित रखने के लिए आज से शासन के मंशा अनुरूप  कोविड-19 अभियान के अंतर्गत प्रत्येक परिवार का जांच करने के लिए गांव के आशाओं को जिम्मेदारी विभाग ने दी है यह आशाएं अपने क्षेत्र में घर-घर जाकर के परिवार के प्रत्येक सदस्यों के बारे में जानकारी लेंगीं और यदि वह बीमार चल रहे हैं तो उनका जांच करके रिपोर्ट संबंधित विभाग को सौंपेंगीं। 

क्या है पूरा मामला-- 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद के समस्त जिला अधिकारियों को दिशा निर्देश दिया है कि  कोविड-19 से गांव को सुरक्षित रखने के लिए आज 5 मई से विशेष को भी टेस्टिंग अभियान शुरू हो रहा है।
इस अभियान के तहत निगरानी समिति की आशा कार्यकत्री घर-घर जाकर लोगों का इंफ्रारेड  थर्मामीटर से जांच करेगी व पल्स ऑक्सीमीटर से लोगों का ऑक्सीजन लेवल चेक करेंगी उसके उपरांत कोविड-19 लक्ष्मण युक्त अथवा संदिग्ध लोगों की एंटीजन जांच कराई जाएगी । टेस्ट रिपोर्ट और मरीज की स्थिति के आधार पर उसे होम आइसोलेशन इंस्टीट्यूशनल क्वारन्टीन अथवा अस्पताल में इलाज की सुविधा उपलब्ध कराई जाय । होम आइसोलेशन में रखे जाने से पूर्व मरीज को मेडिकल किट दी जाए उसे जरूरी सावधानियों के बारे में विधिवत जानकारी दी जाए । 


स्वास्थ्य विभाग बिना सुरक्षा कवच व टेस्टिंग संयंत्र के जांच अभियान में लगा दिया आशा कार्यकत्रियों को-- 

कोविड-19 मठ से गांव वालों को सुरक्षित रखने के लिए आज से प्रारंभ हो रहे कोविड टेस्टिंग अभियान में निगरानी समिति की आशा कार्यकत्रियों को जिम्मेदारी देकर इस अभियान में लगा दिया गया है लेकिन विभाग द्वारा आशा स्वास्थ्य कार्यकत्रियों को ना तो माक्स , दस्ताने व सैनिटाइजर उनके सुरक्षा कवच के लिए उपलब्ध कराया गया है और ना ही गांव में बीमार लोगों के जांच करने के लिए शासन द्वारा बताए गए जांच करने के संयंत्र को ही उपलब्ध कराया गया है। इस संबंध में हमारे संवाददाता को कुछ आशाओं द्वारा जानकारी दी गई कि संबंधित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र द्वारा मुझे एक मेडिकल किट व दो फॉर्मेट उपलब्ध कराए गए हैं और कहा गया है कि आप लोग घर घर जाकर प्रत्येक लोगों से जानकारी लेकर उनकी जांच करके संबंधित प्रपत्र पर यदि उनमें बीमारी के लक्षण पाए जाते हैं तो भरकर विभाग को सूचित करेंगीं। उन लोगों ने बताया कि हम लोगों के द्वारा यह पूछे जाने पर कि हम लोगों को नामांक दिया गया है ना दस्ताने और ना ही सैनिटाइजर ऐसे में हम लोग कैसे काम कर पाएंगे और उनका किस चीज से जांच करेंगे इस पर जिम्मेदार लोगों के द्वारा यह कहां गया कि माक्स , दस्ताने व सैनिटाइजर आप लोग खुद खरीद कर लगाइए और लोगों का चेहरा देखकर उनके बारे में रिपोर्ट करिए । सवाल यह उठता है कि काम के बदले दाम पाने वाली आशा स्वास्थ्य कार्यकत्रियों के पास विभागीय सुरक्षा कवच के नाम पर उनको संसाधन उपलब्ध नहीं कराता है तो वह कहां से खरीद पाएंगी साथ ही यह अपने आप में एक यक्ष प्रश्न सा बना हुआ है कि कहीं मुख्यमंत्री के दिशानिर्देशों को तो नहीं मात्र खानापूर्ति बना रहे हैं यह जिम्मेदार विभागीय अधिकारी /कर्मचारी।


क्या कहते हैं इस संबंध में जिला मुख्य चिकित्सा अधिकारी गोंडा 

इस संबंध में जिला मुख्य चिकित्सा अधिकारी गोंडा के सीयूजी नंबर पर फोन करके जानकारी लिया गया तो फोन अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ मलिक आलमगीर ने रिसीव करके बताया कि CMO साहब एडी साहेब के मीटिंग में गए हैं यह पूछे जाने पर कि डाक साहब आप ही यह जानकारी दीजिए कि कल से आपके यहां गांव में कोविड-19 अभियान प्रारंभ हो रहा है जिसकी जिम्मेदारी आशा कार्यकत्रियों को दी गई है संबंधित विभाग के द्वारा उन्हें ना तो माक्स , दस्ताने और  सैनिटाइजर के साथ लोगों का जांच करने के लिए जांच संयत्र उपलब्ध नहीं कराया गया है ऐसे में बिना सुरक्षा कवच व बिना जांच संयंत्र के वह फील्ड अपने को सुरक्षित रखते हुए कैसे लोगों का जांच करेंगीं । इस पर उन्होंने बताया कि लखनऊ से दवा आज सारा सामान आ गया है आज शाम 4:00 बजे जनपद के समस्त सीएससी फार्मेसिस्ट को बुलाया गया है सभी को सामान जा रहा है जिससे वह उपलब्ध कराएंगे ।

Share this story

Appkikhabar Banner29042021