Police Encounter के नाम पर पुलस्त तिवारी को मारने वाली पुलिस पर केस दर्ज 

 पुलिस का दवा था पुलस्त तिवारी बगग रहा था और उसने पुलिस पार्टी पर हमला कर दिया था 

Uttar pradesh Police  उत्तर प्रदेश की पुलिस एक बार फिर से दागदार हुई है इस समय 5 पुलिस वालों के ऊपर फर्जी तरीके से कार्रवाई करने के आरोप में मुकदमा दर्ज हुआ है पुलस्त्य  तिवारी नाम के एक व्यक्ति के खिलाफ 2020 में पुलिस ने एनकाउंटर किया था जिस पर उसके परिवार वालों ने पुलिस पर आरोप लगाया था और कहा था कि या एनकाउंटर पूरी तरीके से फर्जी हुआ है और उसके बाद इस मामले में केस दर्ज किया गया है ।

पुलिस पहले से भी अपने कई काले कारनामों के कारण पी रही है और प्रदेश में सरकार के द्वारा अपराधियों का एनकाउंटर करने की छूट पुलिस को दी गई उसमें कई बेगुनाहों को भी पुलिस में बाहर गिराया जिसस देसी छवि पर भी धक्का लगा और अब जांच भी की जा रही हैं कई और ऐसे कार्रवाई पुलिस के द्वारा की गई जिसमें उगाही के लिए किसी को इतना प्रताड़ित किया गया कि उसकी मौत हो गई और आज आईपीएस अधिकारी तक भगोड़ा घोषित हो चुका है ।

अगस्त 2020 में पुलिस ने पुलस्त का encounter किया था।

उत्तर प्रदेश पुलिस को सरकार के द्वारा समाज में सुरक्षा का माहौल पैदा करने और अपराधियों में भय और खौफ पैदा करने के लिए जो खुली छूट दी गई उसका कई बार गलत तरीके से इस्तेमाल भी किया गया और अब इन्हीं कारणों के चलते जहां पुलिस कई बार सम्मानित हुई जनता का सम्मान उनको मिला वहीं कई पुलिसकर्मी अपने को कृतियों के चलते विभाग की छवि को भी खराब कब है और इसी कारण से सरकार के द्वारा कई पुलिसकर्मियों के खिलाफ बर्खास्तगी तक की कार्रवाई करनी पड़ी लेकिन जैसा कि अभी दिख रहा है कि अभी पुलिस में सुधार की काफी गुंजाइश है ।

Share this story