डीएम साहब !  क्या जनता के लिए ही है मोटर वाहन अधिनियम का पालन करना , लोक सेवकों को नहीं....? 

 ARTO द्वारा खुद उड़ाई जाती हैं मोटर वाहन अधिनियम का उल्लंघन 
जनपद में यातायात नियमों की धज्जियां उड़ा रहा एआरटीओ प्रशासन/ परिवर्तन, जिम्मेदार मौन 

-- पुलिस अधीक्षक गोंडा द्वारा जनपद में फर्राटे से दौड़ रहे गाड़ियों पर लगे हूटर, हार्न व शीशे पर लगी काली फिल्म हटवाने का दिया गया आदेश 

Uttar pradesh Gonda news गोण्डा । देश के प्रत्येक जिले यानी जनपद में परिवहन संबंधी कार्यों को सुचारु रुप से संचालित करने के लिए एआरटीओ प्रशासन/ परिवर्तन की नियुक्त की गई है । वह मोटर वाहन अधिनियम में विभिन्न प्रावधानों को लागू करने के लिए उत्तरदायी होता है ।

समय-समय पर मोटर वाहन अधिनियम का उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई करके सरकार के खजाने को भरने में सहायक सिद्ध होता है । लेकिन गोंडा जनपद में एआरटीओ द्वारा खुद ही खुलेआम मोटर वाहन अधिनियम की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं ।

जब यातायात नियमों का पालन कराने वाले  ही यातायात नियमों का पालन न करने वाले तक घरों में खड़े हैं तो वह  जनपद में  कैसे  यातायात नियमों की खुलेआम धज्जियां उड़ा रहे लोगों पर कार्रवाई कर सकेंगे ।  ऐसे में सवाल यह उठता है कि क्या जनता के लिए ही है मोटर वाहन अधिनियम का पालन करना, लोक सेवकों को नहीं...?


क्या है पूरा मामला 

संभागीय परिवहन कार्यालय देवीपाटन मंडल गोंडा में विगत 17 फरवरी को कुछ पत्रकारों द्वारा एआरटीओ की निजी गाड़ी में हूटर व हाई बीम लाइट लगा होने पर उसका कवरेज करने के दौरान एआरटीओ द्वारा अपना आपा खोते हुए पत्रकारों से अभद्रता की गई थी जिसकी शिकायत दर्जनों पत्रकारों द्वारा मंडलायुक्त देवीपाटन मंडल गोंडा व जिलाधिकारी गोंडा के साथ आईजीआरएस के माध्यम से भी किया गया था । लेकिन ना तो एआरटीओ के निजी गाड़ी से उतरवा बीम लाइट हटाई गई और ना ही पत्रकारों से कवरेज के दौरान अभद्रता करने वाले एआरटीओ पर प्रशासन की कोई कार्यवाही सामने आई है । वही जनपद में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के कारण सड़कों पर संभावित प्रत्याशियों द्वारा अपनी निजी गाड़ियों पर हूटर/ लाउडस्पीकर व शीशे पर काली फिल्म लगाकर चलने पर पुलिस अधीक्षक गोंडा शैलेश पांडे ने उसे हटवाने के लिए अपने अधीनस्थों को फरमान जारी कर दिया है । 


क्या कहते हैं अधिवक्ता नंदकिशोर वर्मा-- 

मोटर वाहन अधिनियम का पालन लोगों के द्वारा न करने के संबंध में बीएसपी नेता/ अधिवक्ता नंदकिशोर वर्मा द्वारा यह कहा गया कि हम समाचार पत्र के माध्यम से जनपद के तेजतर्रार कहे जाने वाले जिलाधिकारी मार्कण्डेय शाही से पूछना चाहते हैं कि क्या मोटर वाहन अधिनियम का पालन करना जनता के लिए ही है लोक सेवकों के लिए नहीं...? यदि कोई भी व्यक्ति चाहे वह आम जनता हो या लोक सेवक यदि वह अनाधिकृत रूप से अपनी गाड़ियों पर हूटर / लाउडस्पीकर/ हाई बीम लाइट/ शीशे पर काली फिल्म आदि लगाकर चलता है जो मोटर वाहन अधिनियम के अंतर्गत अनाधिकृत है ऐसे सभी पर कार्रवाई सुनिश्चित होना चाहिए ।


क्या कहते हैं इस संबंध में अपर पुलिस अधीक्षक गोंडा-- 

इस संबंध में दूरभाष पर अपर पुलिस अधीक्षक गोंडा से संपर्क कर यह पूछे जाने पर कि पुलिस अधीक्षक गोंडा द्वारा अभी हाल ही में एक आदेश दिया गया है कि जिन गाड़ियों पर हूटर /हार्न / लाउडस्पीकर  व शीशे पर काली फिल्म लगी हुई हो उन्हें तत्काल हटवाते हुए उन पर कार्रवाई किया जाए यह आदेश केवल आम जनता पर लागू होगा या लोक सेवकों पर भी इस पर उन्होंने बतलाया कि जो मोटर वाहन अधिनियम के अंतर्गत अधिकृत हैं उन्हें छोड़कर बाकी सभी पर कार्रवाई की जाएगी ।

Share this story