कोविड रोगियों के उपचार के लिए अधिक वसूली, लापरवाही व अनियमितता के सम्बंध में  नोडल अधिकारी हुई सख्त

roshan jacab ias

 माननीय उच्च न्यायालय के निर्देशानुसार बनाई गई पैंडेमिक पब्लिक ग्रीवांस कमेटी को मेदान्ता व चन्दन हास्पिटल के प्रकरणों की जांच करके विधिक कार्यवाही करने के दिये निर्देश

कोविड उपचार के लिए ओवर चार्जिंग व उपचार में लापरवाही नही की जाएगी बर्दाश्त, की जाएगी एपेडेमिक एक्ट के तहत कार्यवाही

lucknow covid latest news updates कोविड रोगियों के उपचार के लिए अधिक वसूली, उपचार में लापरवाही व अनियमितता बरतने वाले हास्पिटलो पर नोडल अधिकारी डॉ रोशन जैकब ने शिकंजा कसा। उन्होंने स्पष्ट निर्देश दिए कि ओवर प्राइसिंग व उपचार में किसी भी प्रकार की लापरवाही को बर्दाश्त नही किया जाएगा। उन्होंने बताया कि प्राप्त शिकायतों के आधार पर स्वयं मेरे द्वारा और डॉक्टरों व मजिस्ट्रेट की टीमो के द्वारा लगातार निरीक्षण किये जा रहे है। जांच के आधार पर दोषी पाए जाने वाले हास्पिटलो पर थ्प्त् दर्ज कराने की कार्यवाही भी की गई है।

आज  भी कुछ हास्पिटलो के बारे में अधिक वसूली व लापरवाही के सम्बंध में कुछ शिकायतें प्राप्त हुई है।
 शिकायत कर्ता द्वारा बताया गया कि मेदान्ता हास्पिटल लखनऊ की  घोर लापरवाही, अदूरदर्शिता के कारण कोविड मरीज का उपचार आई0एल0डी0 नामक बीमारी समझकर करने से रोगी की मृत्यु हो गई। जिसके सम्बन्ध में नोडल अधिकारी द्वारा उक्त प्रकरण की जांच पैंडेमिक पब्लिक ग्रीवांस कमेटी के द्वारा कराते हुए विधिक कार्यवाही करने के निर्देश दिए।


शिकायत कर्ता द्वारा बताया गया कि चन्दन हास्पिटल लखनऊ द्वारा घोर लापरवाही, अनियमितता तथा 18 से 20 लाख रुपये कोविड उपचार के लिए वसूले गए। शिकायतकर्ता द्वारा हास्पिटल के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही करने की मांग की गई। जिसके सम्बन्ध में नोडल अधिकारी द्वारा उक्त प्रकरण की जांच पैंडेमिक पब्लिक ग्रीवांस कमेटी के द्वारा कराते हुए विधिक कार्यवाही करने के निर्देश दिए।

Share this story