प्रेस कांफ्रेंस भी बढ़ सकता है कोरोना ,कई पत्रकार हुए कोरोना पॉजिटिव 

प्रेस कांफ्रेंस भी बढ़ सकता है कोरोना ,कई पत्रकार हुए कोरोना पॉजिटिव

 प्रेस वार्ता के दौरान नहीं कराया जाता है कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन 

-- त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव दौरान जनपद में कराए गए  bulk में गिरफ्तारी की प्रेस वार्ता कर कवरेज करवाने के बाद से ही पत्रकार होने लगे कोरोना पॉजिटिव संक्रमित 

-- पत्रकारों के कोरोना संक्रमित होने के बाद भी नहीं रुका एसपी का प्रेस वार्ता करने का दौर


गोण्डा(H.P.Srivastav) । वैश्विक महामारी कोविड-19 संक्रमण से जहां पूरे देश में हाहाकार मचा हुआ है वही प्रदेश की स्थिति दिन-ब-दिन और भयावह होती चली जा रही है। आए दिन समाचार पत्रों में सोशल मीडिया के माध्यम से मिली जानकारी के अनुसार कोविड-19 व्यक्तियों को प्रदेश मुख्यालय में सुचारू रूप से उपचार न मिल पाने के कारण काल के गाल में समा रहे हैं वही जनपद गोंडा में कोविड-19 संक्रमण की स्थिति दिनों दिन खराब होते जा रहने के बावजूद पुलिस अधीक्षक गोंडा द्वारा त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के दौरान व बाद में भी अपनी वाहवाही छपवाने के लिए पत्रकारों की जान जोखिम में डालते हुए प्रेस वार्ता पर वार्ता करते नजर आ रहे हैं । 
यही नहीं प्रेस वार्ता के दौरान ना पत्रकारों से और ना ही पकड़े गए अभियुक्तों से कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन सुचारू से कराया जाता है जिसका परिणाम अब तक का यह रहा कि जनपद मुख्यालय पर वर्तमान में लगभग दर्जनों पत्रकार कोविड पॉजिटिव संक्रमित होकर अपने को खुद आइसोलेट करते हुए इलाज कर रहे हैं । 
बताते चलें कि एक तरफ मुख्यमंत्री महोदय कोविड-19 के व्यापक रूप को देखते हुए खुद वर्चुअल मीटिंग करने लगे हैं वहीं प्रदेश के सभी लोगों को निर्देशित भी कर दिए हैं कि अगर विशेष आवश्यकता नहीं है तो सामूहिक बैठक ना करके वर्चुअल बैठकर का आयोजन करें। 
जनपद के वर्तमान दौर की स्थिति यह है कि प्रतिदिन सैकड़ों की संख्या में कोविड  पॉजिटिव संक्रमित लोगों की रिपोर्ट निकल कर सामने आ रही है । शासन द्वारा पूरे प्रदेश में शुक्रवार रात 8:00 बजे से सोमवार सुबह 6:00 बजे तक का कर्फ्यू लगा दिया गया है । और कोविड-19 प्रोटोकॉल की गाइडलाइन जारी करके समस्त जनपदों के जिम्मेदार अधिकारियों से शत-प्रतिशत जनपद में पालन करवाने  का दिशा निर्देश दिया गया है । जनपद में वर्तमान दौर में कुछ राजनेता प्रशासनिक अधिकारी कर्मचारी व डाक्टरों के अलावा पत्रकार गण के साथ कुछ आम जनता इसके चपेट में आकर संक्रमण से ग्रसित है जिसमें कुछ अस्पतालों में  कुछ खुद को घर में रहकर इलाज करवा रहे हैं लेकिन एक हमारे यह साहब हैं जो पत्रकारों के स्वास्थ्य के प्रति फिक्रमंद ना रहकर प्रेस वार्ता का आयोजन करके उन्हें बुलाकर अपनी वाहवाही छपवाने पर उतारू रहते हैं ।

Share this story

Appkikhabar Banner29042021