शिक्षकों की कोरोना से मौत पर शुरू हुई politics

Shikshak

 अयोध्या:रिपोर्ट:अभिषेक गुप्ता) प्रदेश में पंचायत चुनाव में ड्यूटी पर लगे शिक्षकों की कोरोना से मौत पर अब सियासत शुरू हो गई है।प्रदेश में कोरोना का असर कम होते ही आम आदमी पार्टी एक्टिव मोड में आ गई है।

अपने गृह जनपद अयोध्या पहुंचे आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सभाजीत सिंह ने कार्यकर्ताओं के साथ पंचायत चुनाव में ड्यूटी पर लगे शिक्षकों की कोरोना से मौत के बाद उनके परिजनों से मिलने का सिलसिला शुरू किया है। 

आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सभाजीत सिंह कार्यकर्ताओं के साथ आज अयोध्या जनपद के शिक्षक परिवार से मिले और उन्हें सांत्वना दी और कहा आम आदमी पार्टी उस परिवार के साथ है।

इस दौरान आम आदमी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सभाजीत सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार मृतक शिक्षकों के परिजनों को एक करोड़ रुपए का मुआवजा दे और उनके परिवारों के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दे।आरोप लगाते हुए प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश सरकार ने हठवादिता करके पंचायत चुनाव करवाए जिससे ड्यूटी में लगे शिक्षकों को कोरोना से संक्रमित होना पड़ा और उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई।

सरकार तत्काल ऐसे परिवारों को मुआवजा उपलब्ध कराएं। प्रदेश अध्यक्ष सभाजीत सिंह ने दावा करते हुए कहा कि अयोध्या जनपद में लगभग 25 शिक्षकों की मौत हुई है जो पंचायत चुनाव में ड्यूटी पर लगे हुए थे और प्रदेश में पंचायत चुनाव में ड्यूटी पर लगे 1600 से अधिक शिक्षकों की मौत हुई है।एक्टिव मोड में आने के बाद आम आदमी पार्टी शिक्षकों के परिजनों से तो मिल ही रही है प्रदेश के सभी जिलों में आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता लॉकडाउन में गरीब असहाय परिवारों को राशन भी उपलब्ध करा रही है। पंचायत चुनाव के बाद अब आम आदमी पार्टी की नजर विधानसभा के चुनाव पर है।

Share this story