14 महीने से बन्द हैं स्कूल सरकार का ध्यान नही ,अब संगठन करेगा आरपार की बात 

माध्यमिक

माध्यमिक शिक्षा परिषद

बलरामपुर।  उत्तर प्रदेश स्ववित्तपोषित विद्यालय प्रबंधक महासंघ कोविड-19 के तहत बैठक आयोजित की गई बैठक में निजी स्कूलों के लगातार 1 14 महीने से  बंद होने के कारण प्रबन्धक प्रधानाचार्य शिक्षक कर्मचारियों की समस्याओं के समाधान को लेकर अग्रिम रणनीति बनाई गई है ।


       बैठक में जिलाध्यक्ष एमपी तिवारी ने कहां कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय एवं सूबे  की सरकार निजी स्कूलों के 14 महीने से बंद होने की समस्याओं को नजरअंदाज किए हुए हैं प्रबन्धक प्रधानाचार्य शिक्षक कर्मचारी दाने-दाने को मोहताज हो गए हैं आर्थिक स्थिति काफी खराब हो गई है लेकिन इस समस्या पर केंद्र व राज्य सरकार का गंभीर ना होना प्रबन्धक प्रधानाचार्य शिक्षक कर्मचारियों के प्रति सौतेला व्यवहार है संरक्षक डॉ नितिन कुमार शर्मा ने कहां की राज्य एवं केंद्र सरकार निजी स्कूलों की समस्याओं का समाधान नहीं किया तो पूरे प्रदेश में निजी स्कूल एकजुट होकर समस्याओं को सदन में रखने को मजबूर होंगे ।

इसके लिए बैठक में प्रबन्धक प्रधानाचार्य ने रणनीति बनाई है रविवार को जूम मीटिंग करके सभी प्रबंधक प्रधानाचार्य से अग्रिम रणनीति तय करेंगे जिसमें निजी स्कूलों की समस्याओं को सरकार द्वारा नजरअंदाज किए जाने पर सांकेतिक हड़ताल वहां पर काला फीता बांधकर विरोध प्रदर्शन प्रत्येक विधानसभा के विधायक को मुख्यमंत्री एवं केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री को 5 सूत्री मांग पत्र सौंपेंगे साथ ही साथ जिला प्रशासन एवं सांसद को मांग पत्र सौंपने के दौरान वहां पर काला फीता बांधकर सांकेतिक प्रदर्शन करेंगे बैठक में वरिष्ठ उपाध्यक्ष  विनोद कुमार सिंह कलहंस  एवं उपाध्यक्ष वीर गौरव सिंह ने संयुक्त रूप से कहा है कि सरकार सिर्फ अपनी शर्तों को निजी स्कूलों पर लागू कराना चाहती है लेकिन उनकी समस्याओं पर गंभीर ना होना निश्चय ही सौतेला व्यवहार किया जाना है जिसके लिए संगठन अब आर पार की बात करेगा।

संगठन शासन की नीतियों का विरोध नहीं करता है लेकिन स्वयं की परेशानियों से राहत की सरकार से मांग करता है मांगना पूरा होने पर पूरे प्रदेश में संगठन विरोध प्रदर्शन करेगा निजी स्कूलों की समस्याओं पर सैफ अली खान अंसार अहमद असलम शेर खान समीर रिजवी रीता चौधरी डॉक्टर पम्मी पांडे रमेश चंद्र त्रिपाठी हेमन्त तिवारी केपी यादव धर्मेंद्र यादव सरोज पांडे रंजना पांडे नरसिंह मिश्रा सुरेंद्र मौर्य डॉक्टर रंजन तिवारी डीपी सिंह अक्षत पांडे फादर अरुण मॉरिस मंजीत सिंह डॉ सतीश सिंह जेपी पांडे सुधीर आनंद आलोक मिश्रा आदि ने एक स्वर में महासंघ के द्वारा लिए गए निर्णय पर सहमत जताया है

Share this story