Top
Aap Ki Khabar

आयुक्त ने श्रमिकों की बेटियों को साइकिल सहायता योजना के तहत दी गई

देवीपाटन मण्डल के आयुक्त श्री एस0वी0एस0 रंगाराव ने बतौर मुख्य अतिथि लाभार्थियों को लाभ दिया

आयुक्त ने श्रमिकों की बेटियों को साइकिल सहायता योजना के तहत दी गई
X

सरकार श्रमिकों के आर्थिक उन्नयन के लिए हर स्तर पर कर रही कार्य -- आयुक्त

मिशन शक्ति अभियान के तहत श्रम विभाग द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं के 56 लाभार्थियों को हितलाभ का किया गया वितरण

लाभार्थियों ने आयुक्त से साझा किए अनुभव, सरकार का ज्ञापित किया धन्यवाद

आयुक्त ने साइकिल योजना की लाभार्थी बच्चियों को हरी झण्डी दिखाकर किया रवाना

गोण्डा । बेटियों और महिलाओं की सुरक्षा एवं स्वावलम्बन के लिए प्रदेश सरकार के अति महत्वांकाक्षी ''मिशन शक्ति'' अभियान के दूसरे दिन श्रम विभाग द्वारा पंजीकृत महिला श्रमिकों व उनके परिवारों को श्रम विभाग द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं के तहत हितलाभ वितरण के लिए भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया। देवीपाटन मण्डल के आयुक्त श्री एस0वी0एस0 रंगाराव ने बतौर मुख्य अतिथि लाभार्थियों को विभिन्न योजनान्तर्गत हितलाभ वितरण किया।

मिशन शक्ति अभियान अन्तर्गत उपश्रमायुक्त कार्यालय गोण्ड़ा में आयोजित हुआ हितलाभ वितरण कार्यक्रम

कार्यक्रम में आयुक्त ने संत रविदास शिक्षा सहायता योजनान्तर्गत साइकिल सहायता योजना के 10 लाभार्थियों को निःशुल्क साइकिल, कन्या विवाह योजना के तहत 05 लाभार्थियों को 55 हजार रूपए की दर से 02 लाख 75 हजार की सहायता राशि, मृत्यु, विकलांगता सहायता एवं अक्षमता पेंशन योजना के 06 लाभार्थियों को 02 लाख 25 हजार रूपए की दर से 13 लाख 50 हजार रूपए की सहायता राशि, मातृत्व, शिशु व बालिका मदद योजना के 20 लाभार्थियों को 25 हजार रूपए की दर से 8 लाख 25 हजार 364 रूपए की आर्थिक सहायता तथा चिकित्सा सुविधा योजना के तहत 15 लाभार्थियों को 3 हजार रूपए की दर से 45 हजार रूपए सहित कुल 25 लाख, 30 हजार तीन सौ चैंसठ रूपए की आर्थिक सहायता का वितरण किया।




आयुक्त ने श्रमिकों की बेटियों को साइकिल सहायता योजना के तहत दी गई निःशुल्क साइकिल को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया।

बतौर मुख्य अतिथि आयुक्त ने अपने उद्बोधन में कहा कि सरकार द्वारा महिलाओं और बेटियों को आत्मनिर्भर व स्वावलम्बी बनाने के लिए मिशन शक्ति अभियान के रूप में एक नई मुहिम शुरू की गई है। उन्होंने कहा कि सरकार श्रमिकों के आर्थिक उन्नयन के लिए हर स्तर पर कार्य कर रही है, परन्तु तमाम श्रमिक भाइयों को योजनाओं की जानकारी न होने के कारण उन्हें सरकार की योजनाओं का लाभ समय से नहीं मिल पाता है। इसलिए वे लोग आज जिन-जिन योजनाओं का लाभ द्वारा प्राप्त रहे हैं, वे अपने गांवों में जाकर अपने आसपास के लोगों को भी इन योजनाओं के बारे में बताएं ताकि वे भी लाभ उठा सकेें।

ददुआ बाजार कोतवाली नगर निवासिनी आशा मोदनवाल ने आयुक्त को बताया कि उसके पति श्रमिक थे। किडनी खराब हो जाने के कारण उनकी असमय मृत्यु हो गई। पति की मृत्यु के बाद वह असहाय हो गई। ऐसी मुसीबत में सरकार की ओर से उसे विकलांगता सहायता एवं अक्षमता पेंशन योजना के तहत 02 लाख 25 हजार रूपए की सहायता मिली है,जिससे उसके जीवन में आशा की नई किरण दिखी है। आयुक्त ने इसी प्रकार अन्य लाभार्थियों से संवाद कर उनके अनुभव प्राप्त किए। उन्होंने श्रमिकों का आहवान करते हुए कहा कि सरकार द्वारा श्रमिकों के लिए तमाम तरह की कल्याणकारी योजना चलाई रही हैं, वे लोग जागरूक बनें और योजनाओं का लाभ उठाएं।

प्रदेश के श्रम मंत्री ने वर्चुअल मीटिंग के माध्यम से की लाभार्थियों से बात

प्रदेश के श्रम मंत्री श्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने वर्चुअल मीटिंग के माध्यम से लाभार्थियों से वार्ता की तथा अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे पात्रों को हर हाल में सरकार की योजनाओं का लाभ दिलाएं। इस अवसर पर श्रम प्रर्वतन अधिकारी योगेश दीक्षित सूर्य भान वरिष्ठ सहायक, चंद्रेश यादव टीआरपी, लालचन्द्र, अजय ,गिरी, अनुराग, राम नारायण, नूर मोहम्मद सहित अन्य अधिकारी व लाभार्थी उपस्थित रहे।

Next Story
Share it