Top
Aap Ki Khabar

गोनार्ड फाउंडेशन स्वामी विवेकानंद की जयंती पर एक विचार गोष्ठी का आयोजन,

Gonda news युवा वर्ग को स्वामी विवेकानंद के दर्शन और साहित्य को नित्य,प्रति दिन पढ़ना चाहिए

Gonda news
X

Gonda news

State Gonda News UP.- गोनार्ड फाउंडेशन की तरफ से भारतवर्ष के महान सपूत,युवा स्तंभ,युवा गौरव,युवा कुलश्रेष्ठ,स्वामी विवेकानंद की जयंती पर एक विचार गोष्ठी का आयोजन,गोनार्ड फाउंडेशन के चेयरमैन विवेक मणि श्रीवास्तव एडवोकेट के आवास पर,शाम 5:00 बजे हुआlजिस पर मुख्य अतिथि के रूप में डीआईजी स्टांप,देवीपाटन मंडल,श्री मनोज कुमार श्रीवास्तव व विशिष्ट अतिथि के रूप में डॉ अभय शंकर लाल श्रीवास्तव व कार्यक्रम की अध्यक्षता कायस्थ कुलश्रेष्ठ श्री केके श्रीवास्तव द्वारा किया गया एवं विचार गोष्ठी का संचालन गोंडा जनपद के वरिष्ठ अध्यापक श्री बृजेश श्रीवास्तव द्वारा किया गयाl

मुख्य अतिथि के रुप में बोलते हुए श्री मनोज श्रीवास्तव,डीआईजी स्टांप देवीपाटन मंडल,ने कहा के युवा वर्ग को स्वामी विवेकानंद के दर्शन और साहित्य को नित्य,प्रति दिन पढ़ना चाहिए और उसको अपने आचरण में उतारने के लिए प्रयास करना चाहिए, जिससे देश समाज और भारतीय संस्कृति का उत्थान और विकास हो सकेl विशिष्ट अतिथि के रुप में बोलते हुए श्री डॉ अभय शंकर लाल श्रीवास्तव ने कहा के स्वामी विवेकानंद जैसे महान सपूत,जिन्होंने कायस्थ कुल में पैदा होकर,विश्व में अपनी संस्कृत की छाप छोड़ी,ऐसे महान योद्धा को,उनके जन्मदिन पर हम युवाओं से यह,अपेक्षा करेंगे कि अपनी संस्कृत,विश्व की सबसे अच्छी संस्कृत है,इस को संभाल के रखना और आगे बढ़ाना यह हमारा पहला लक्ष्य होना चाहिए lइसी क्रम में कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे गोंडा जनपद के कायस्थ कुलश्रेष्ठ,वरिष्ठ अधिवक्ता श्री केके श्रीवास्तव ने कहा कि स्वामी विवेकानंद ने,जो विश्व पटल पर,पाश्चात्य सभ्यता के ऊपर भारतीय संस्कृत की छाप छोड़ी वह अविस्मरणीय है,और युगों युगों तक स्वामी विवेकानंद,भारतीय युवाओं के और विश्व के युवाओं के मार्गदर्शक और प्रेरणा स्रोत बने रहेंगेlकार्यक्रम के अंत में गोनार्ड फाउंडेशन के चेयरमैन,विवेक मणि श्रीवास्तव द्वारा सभी आगंतुकों का,भारत के महान सपूत स्वामी विवेकानंद की जयंती पर आने के लिए,आभार प्रकट करते हुए कहा कि चित्रांश कुल में पैदा हुए,ऐसे महान सपूत,जिन्होंने पीछे मुड़कर कभी नहीं देखा और अपने वैराग्य जीवन व्यतीत करते हुए भी,उन्होंने विश्व पटल पर अपनी एक अलग छाप बनाई,ऐसे महान आत्मा को उनकी जयंती पर हम याद करके,हम आशा करेंगे कि हम उनके पद चिन्हों पर चलें और उनके दर्शन को आत्मसात करेंl

इस अवसर पर गोनार्ड फाउंडेशन की तरफ से मुख्य अतिथि को व वरिष्ठ विशिष्ट अतिथि को अंगवस्त्र व मोमेंटो भेंट कर स्वागत किया गयाlइस अवसर पर चित्रगुप्त सभा के श्री अश्वनी श्रीवास्तव,श्री पंकज सिन्हा,श्री विकास मनोहर श्रीवास्तव,श्री विजितश्रीवास्तव,श्री बसंत कुमार श्रीवास्तव,श्री नीरज कुमार श्रीवास्तव,श्री विशाल कुमार श्रीवास्तव,श्री विकास कुमार श्रीवास्तव,श्री अमन श्रीवास्तव,श्री हिमांशु श्रीवास्तव,श्री आशु श्रीवास्तव,श्री मनोज कुमार,श्री संजय श्रीवास्तव,श्री स्वतंत्र कुमार श्रीवास्तव,श्री अतुल कुमार श्रीवास्तव,श्री विजय कुमार,श्री शंभू दुसाद, श्री तेग बहादुर श्रीवास्तव,श्री गोपाल श्रीवास्तव,श्री मदन गोपाल श्री दिनेश चंद्र,श्री सिद्ध कुमार,श्री पवन मोहन,श्री अमरेश,श्री देवकली प्रसाद,श्रीअभिनव कुमार,श्री प्रत्यूष कुमार,श्री अश्वनी कुमार,श्रीअंजनी कुमार,श्री दिवाकर श्रीवास्तव,श्री गौरव श्रीवास्तव,श्री श्री प्रकाश चंद आदि लोग विचार गोष्ठी में कथा एकत्रित रहेl

Next Story
Share it