अवैध रूप से शार्क पकड़े जाने की जांच करेगी श्रीलंका सरकार

अवैध रूप से शार्क पकड़े जाने की जांच करेगी श्रीलंका सरकार
अवैध रूप से शार्क पकड़े जाने की जांच करेगी श्रीलंका सरकार कोलंबो, 14 अक्टूबर (आईएएनएस)। श्रीलंका सरकार त्रिंकोमाली में अवैध रूप से शार्क पकड़ने के आरोपों की तत्काल जांच शुरू करेगी।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, एक स्थानीय संगठन, पर्ल प्रोटेक्टर्स ने ट्विटर पर एक बयान में कहा कि त्रिंकोमाली कभी समुद्री जैव विविधता हॉटस्पॉट था, लेकिन अब यह खतरे में आ गया है क्योंकि मछुआरे तेजी से स्थानीय शार्क प्रजातियों को मार रहे हैं।

पर्यटन अधिकारियों ने कहा कि त्रिंकोमाली में नीलवेली और पिजन द्वीप कुछ ऐसे स्थान हैं जहां पर्यटक शार्क के साथ तैर सकते हैं और समुद्री प्रजातियों को देखने के लिए नाव की सवारी का आनंद ले सकते हैं।

मत्स्य राज्य मंत्री कंचना विजेसेकेरा ने बुधवार को कहा कि मत्स्य विभाग के अधिकारी त्रिंकोमाली का दौरा करेंगे और दावों की जांच करेंगे।

विजेसेकेरा ने कहा, शुरुआती जांच पूरी होने के बाद जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

श्रीलंका के पूर्वोत्तर तट पर स्थित, कोलंबो से लगभग 237 किमी दूर, त्रिंकोमाली वन्यजीव प्रेमियों के लिए लोकप्रिय है क्योंकि यह इस क्षेत्र के सबसे अच्छे प्राकृतिक बंदरगाहों में से एक है।

यह ब्लू व्हेल को उनके प्राकृतिक वातावरण में देखने के लिए देश के सबसे अच्छे हॉटस्पॉट्स में से एक है और कुछ महीनों के दौरान कम संख्या में स्पर्म व्हेल और व्हेल शार्क को भी देखा जा सकता है।

--आईएएनएस

एसकेके/आरजेएस

Share this story