आईएमएफ की शर्तों को कम करने के लिए पाकिस्तान ने मांगी अमेरिका से मदद

आईएमएफ की शर्तों को कम करने के लिए पाकिस्तान ने मांगी अमेरिका से मदद
इस्लामाबाद, 26 जनवरी (आईएएनएस)। पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के ऋण की शर्तों को नरम करने के लिए अमेरिका से मदद मांग रहा है। पाकिस्तान ने अमेरिकी अधिकारियों से कहा है कि वे अपने प्रभाव से शर्तो को नरम करवाएं, क्योंकि देश आर्थिक और राजनीतिक दोनों रूप से एक महत्वपूर्ण मोड़ पर खड़ा है।

जियो न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, फाइनेंस मिनिस्टर इशाक डार ने एशिया के अमेरिकी ट्रेजरी विभाग के विजिटिंग डिप्टी असिस्टेंट सेक्रेटरी रॉबर्ट कैप्रोथ के साथ मुलाकात के दौरान यह गुजारिश की।

ऋण कार्यक्रम महीनों से रुका हुआ है और आने वाले चुनाव के साथ देश में तनावपूर्ण राजनीतिक माहौल के बीच शहबाज शरीफ सरकार को ऋणदाताओं की शर्तों को लागू करने में मुश्किल हो रही है।

सरकार एक दुविधा में है क्योंकि पहले से ही बोझ से दबे नागरिकों पर अधिक कर लगाने से सत्तारूढ़ गठबंधन अधिक कठिन स्थिति में आ जाएगा। मुद्रास्फीति अब तक के उच्च स्तर पर है और विदेशी मुद्रा भंडार तेजी से घट रहा है।

जियो न्यूज ने बताया कि मित्र देशों ने इस्लामाबाद को यह भी बताया है कि आईएमएफ की ऋण सुविधा से आर्थिक स्थिरता के लिए जरूरी वित्तीय मदद के अन्य स्रोत खुल जाएंगे।

डार ने कप्रोथ का स्वागत किया और उन्हें देश के आर्थिक ²ष्टिकोण के बारे में जानकारी दी।

उन्होंने उन्हें अवगत कराया कि सरकार को एक कमजोर अर्थव्यवस्था विरासत में मिली है और चुनौतीपूर्ण आर्थिक परिस्थितियों के बावजूद, आर्थिक विकास और विकास को प्राप्त करने के लिए ऊर्जा क्षेत्र और पूंजी बाजार सहित सभी क्षेत्रों में सुधार को शुरू कर सही दिशा में चीजों को ठीक करने पर ध्यान केंद्रित कर रही है।

वित्त मंत्री ने उन्हें अंतर्राष्ट्रीय दायित्वों को पूरा करते हुए अर्थव्यवस्था को सही रास्ते पर लाने सहित सरकार की आर्थिक प्राथमिकताओं से भी अवगत कराया।

--आईएएनएस

एसकेपी

Share this story