आसिफ अली जरदारी ने पाक में जल्द चुनाव कराने का विरोध किया

आसिफ अली जरदारी ने पाक में जल्द चुनाव कराने का विरोध किया
आसिफ अली जरदारी ने पाक में जल्द चुनाव कराने का विरोध किया कराची, 11 मई (आईएएनएस)। पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति और पीपीपी नेता आसिफ अली जरदारी ने राजनीतिक अनिश्चितता को दूर करने के लिए देश में जल्द चुनाव कराने के आह्वान का विरोध किया है, जिसने शेयर बाजार को नुकसान पहुंचाया है और आर्थिक पुनरुद्धार को बाधित किया है। मीडिया रिपोटरें में कहा गया है।

समा टीवी की रिपोर्ट के अनुसार, जरदारी ने बुधवार को सिंध के मुख्यमंत्री आवास में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, पिछली रात मैंने मियां साहिब से बात की और उन्हें मना लिया।

उन्होंने कहा कि इमरान खान जल्दी चुनाव कराने की मांग कर रहे हैं और पीपीपी चुनाव से नहीं डरती, बल्कि वह चुनाव कराने से पहले चुनावी सुधार चाहती है।

समा टीवी की रिपोर्ट के अनुसार, हमारे गेम प्लान में, चुनाव सुधारों के बाद चुनाव होंगे।

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) सरकार द्वारा पारित चुनाव सुधार विधेयक के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा कि यह कानून ही विवाद का विषय है।

उन्होंने कहा कि मौजूदा गठबंधन सरकार की योजना कानून में बदलाव करने की है, क्योंकि उन्होंने वह गुंजाइश छोड़ दी है जिसके जरिए भविष्य में एक चुनी हुई सरकार लाई जा सकती है।

जरदारी ने कहा, हमें चुनावी सुधार, एनएबी सुधार [और अन्य सुधारों को ठीक करने के लिए] अर्थव्यवस्था [जो] एक कगार पर है कि लोग आपको पैसा भी नहीं देना चाहते हैं।

उन्होंने कहा कि जो भी सत्ता संभालेगा उसे इन चुनौतियों से निपटना होगा, इसलिए बेहतर है कि मौजूदा सरकार इनसे निपटे।

समा टीवी की रिपोर्ट के मुताबिक, जरदारी ने कहा कि जब तक अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ऋण कार्यक्रम पटरी पर नहीं आता, देश को आर्थिक कठिनाई का सामना करना पड़ेगा।

उन्होंने कहा कि सरकार पेट्रोल की कीमतों में वृद्धि के लिए अनिच्छुक है क्योंकि इससे मुद्रास्फीति और बढ़ेगी।

उन्होंने अर्थव्यवस्था को ठीक करने के लिए आउट ऑफ द बॉक्स सॉल्यूशंस का भी आह्वान किया।

--आईएएनएस

एचके/एएनएम

Share this story