इमरान ने इस्लामाबाद कोर्ट से कहा, अगर मैंने कोई सीमा लांघी तो माफी चाहता हूं

इमरान ने इस्लामाबाद कोर्ट से कहा, अगर मैंने कोई सीमा लांघी तो माफी चाहता हूं
इमरान ने इस्लामाबाद कोर्ट से कहा, अगर मैंने कोई सीमा लांघी तो माफी चाहता हूं इस्लामाबाद, 22 सितंबर (आईएएनएस)। पीटीआई के अध्यक्ष इमरान खान ने गुरुवार को इस्लामाबाद हाईकोर्ट (आईएचसी) के समक्ष आखिरकार माफी मांग ली, क्योंकि उनके खिलाफ अतिरिक्त जिला और सत्र न्यायाधीश के बारे में विवादास्पद टिप्पणी करने के कारण अदालत की अवमानना के मामले में सुनवाई शुरू की गई। मीडिया की खबरों में कहा गया है कि इमरान खान ने 20 अगस्त को इस्लामाबाद में एक रैली के दौरान जज जेबा चौधरी के बारे में विवादास्पद टिप्पणी की थी।

जियो न्यूज की खबर के मुताबिक, इमरान कड़ी सुरक्षा के बीच अदालत में पेश हुए।

अदालत गुरुवार को सुनवाई के दौरान पूर्व प्रधानमंत्री के खिलाफ आरोप तय करने वाली थी। हालांकि, इमरान ने सुनवाई की शुरुआत में ही माफी की पेशकश कर दी।

इमरान ने अदालत से कहा, अगर मैंने कोई सीमा पार की है तो मैं माफी मांगता हूं। ऐसा दोबारा नहीं होगा। मेरा कभी भी अदालत की भावनाओं को ठेस पहुंचाने का इरादा नहीं था।

उन्होंने अदालत से अनुरोध किया कि उन्हें जज जेबा चौधरी से व्यक्तिगत रूप से माफी मांगने की इजाजत दी जाए।

आईएचसी के मुख्य न्यायाधीश अतहर मिनाल्लाह ने कहा कि अदालत गुरुवार को इमरान खान के खिलाफ आरोप तय नहीं करने जा रही है।

जियो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, इमरान ने अदालत में जो कहा, उसका लिखित हलफनामा पेश करने का निर्देश देते हुए मिनल्लाह ने कहा, अदालत आपके बयान को महत्व देती है। आप अपने बयान की गंभीरता को समझते हैं, हम इसकी सराहना करते हैं।

अदालत ने उनका बयान दर्ज किया और सुनवाई 3 अक्टूबर तक के लिए स्थगित कर दी।

--आईएएनएस

एसजीके/एएनएम

Share this story