ईडी पात्रा चॉल मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पहली महिला से करेगा पूछताछ

ईडी पात्रा चॉल मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पहली महिला से करेगा पूछताछ
ईडी पात्रा चॉल मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पहली महिला से करेगा पूछताछ मुंबई, 6 अगस्त (आईएएनएस)। शिवसेना सांसद संजय राउत इस समय हिरासत में हैं, उनकी पत्नी वर्षा राउत यहां पात्रा चॉल पुनर्विकास से जुड़े कथित धनशोधन मामले में पूछताछ के लिए शनिवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) कार्यालय पहुंचीं।

एक विशेष पीएमएलए अदालत द्वारा इसी मामले में उनके पति को 8 अगस्त तक ईडी की हिरासत में भेजे जाने के बाद गुरुवार को उन्हें समन जारी किया गया था।

शनिवार को पूछताछ के दौरान ईडी द्वारा वर्षा राउत का अपने पति के साथ सामना होने की संभावना है, जिसने विशेष अदालत को सूचित किया था कि वह कुछ बैंक लेनदेन और अन्य संबंधित मुद्दों को कथित रूप से संदिग्ध सौदों से संबंधित सत्यापित करना चाहता है।

वर्ष 2018 में भड़के पात्रा चॉल मामले में जांचकर्ताओं का सामना करने वाली वर्षा राउत ईडी की जांच के दायरे में आने वाली पहली महिला होंगी।

संयोग से, 29 जून को मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली महा विकास अघाड़ी सरकार के पतन के बाद हाल ही में पांच साल पुराने मामले की जांच ने गति पकड़ी।

इस हफ्ते की शुरुआत में राउत के घर पर 31 जुलाई को छापेमारी और 1 अगस्त की तड़के गिरफ्तारी के बाद शिवसेना अध्यक्ष ठाकरे ने अपने परिवार के सदस्यों से उनके साथ एकजुटता व्यक्त करने का आह्वान किया था।

ईडी ने इससे पहले संजय राउत से पूछताछ की थी और जब उनका नाम वर्षा के साथ एक करीबी सहयोगी प्रवीण राउत और कई अन्य आरोपियों के साथ हुआ था और उनकी कई अचल संपत्तियों को भी कुर्क किया था।

संजय राउत को हाल ही में कम से कम दो और तारीखों पर तलब किया गया था, लेकिन संसदीय कार्यो का हवाला देते हुए वह पेश नहीं हुए थे। उन्होंने किसी भी गलत काम से इनकार किया है और जांच को राजनीतिक प्रतिशोध करार दिया है, जिसका उद्देश्य विपक्ष का मुंह बंद करना है।

--आईएएनएस

एसजीके

Share this story