एबी डिविलियर्स ने क्रिकेट के सभी प्रारूपों से लिया संन्यास

एबी डिविलियर्स ने क्रिकेट के सभी प्रारूपों से लिया संन्यास
एबी डिविलियर्स ने क्रिकेट के सभी प्रारूपों से लिया संन्यास प्रिटोरिया, 19 नवंबर (आईएएनएस)। दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान एबी डिविलियर्स ने शुक्रवार को क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास की घोषणा की। 2018 में अपनी अंतर्राष्ट्रीय रिटायरमेंट के बाद डिविलियर्स ने फ्रैंचाइजी क्रिकेट में खेलना जारी रखा, विशेष रूप से वो इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (आरसीबी) के लिए खेल रहे थे।

शुक्रवार को खेल के सभी प्रारूपों से संन्यास लेने से अब वह एक दशक से जुड़े फ्रैंचाइजी आरसीबी के लिए भी नहीं खेल सकेंगे।

डिविलियर्स ने ट्वीट कर कहा, यह एक अविश्वसनीय यात्रा रही है, लेकिन मैंने सभी क्रिकेट से संन्यास लेने का फैसला किया है। मैंने करियर में पूरे आनंद और उत्साह के साथ मैच खेला। अब 37 साल की उम्र में क्रिकेट को अलविदा कह रहा हूं।

37 साल के इस खिलाड़ी ने 184 आईपीएल मैच खेले हैं, सबसे पहले वह दिल्ली डेयरडेविल्स के लिए तीन सीजन खेले और उसके बाद बैंगलोर के कप्तान विराट कोहली के नेतृत्व में एक लंबा दशक टीम में बिताया।

उन्होंने आईपीएल में कुल मिलाकर 39.70 की औसत और 151.68 की स्ट्राइक रेट से 5162 रन बनाए, जिसमें तीन शतक और 40 अर्धशतक शामिल हैं, जबकि आरसीबी की ओर से पांच बार आईपीएल प्लेऑफ में प्रवेश करने वाले सदस्य रहे।

डिविलियर्स ने बताया, यही वास्तविकता है जिसे मुझे स्वीकार करना चाहिए और भले ही यह अचानक लग सकता है, लेकिन मैं आज यह घोषणा कर रहा हूं। मेरे पास अपना समय है। क्रिकेट मेरे लिए असाधारण रूप से सब कुछ रहा है। चाहे टाइटन्स के लिए खेलना, प्रोटियाज, आरसीबी, या दुनियाभर की टीमों के लिए खेलना हो, मुझे अकल्पनीय अनुभव और अवसर दिए हैं और मैं इसके लिए हमेशा आभारी रहूंगा।

डिविलियर्स ने प्रोटियाज के लिए 114 टेस्ट, 228 एकदिवसीय और 78 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले।

उन्होंने कहा, मैं हर टीम के साथी, हर प्रतिद्वंद्वी, हर कोच, हर फिजियो और हर स्टाफ सदस्य को धन्यवाद देना चाहता हूं, जो मेरे इस सफर में साथ रहे हैं। मुझे दक्षिण अफ्रीका, भारत, जहां भी मैंने खेला है, मुझे मिले समर्थन से खुश हूं।

आरसीबी के अध्यक्ष प्रथमेश मिश्रा ने एक बयान में कहा, एबी डिविलियर्स खेल के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में से एक रहे हैं और हम उन्हें आईपीएल में आरसीबी का प्रतिनिधित्व करने के लिए सम्मानित कर रहे हैं। उनकी कार्य नैतिकता विशेष रही है, जिसने न केवल टीम को फायदा हुआ, बल्कि नए युवाओं के लिए उच्च अवसर प्रदान किए है।

मिश्रा के मुताबिक, एबी मैदान पर और बाहर दोनों जगह एक अच्छे खिलाड़ी रहे हैं और हम आरसीबी को आईपीएल में प्रमुख फ्रेंचाइजी में से एक के रूप में स्थापित करने में उनकी अथक प्रतिबद्धता के लिए अपना हार्दिक आभार व्यक्त करना चाहते हैं। हम एबी को जीवन में अगली पारी के लिए शुभकामनाएं देते हैं। वह हमेशा आरसीबी परिवार का हिस्सा रहेंगे।

डिविलियर्स ने कहा, आखिरकार, मुझे पता है कि मेरे परिवार, मेरे माता-पिता, मेरे भाई, मेरी पत्नी डेनियल और मेरे बच्चों के बलिदान के बिना कुछ भी संभव नहीं होता। मैं अपने जीवन की अगली पारी का इंतजार कर रहा हूं। जब मैं उन्हें पहले प्राथमिकता दे पाऊंगा।

--आईएएनएस

आरजे/आरजेएस

Share this story